July 12, 2024

17 वर्षों के इंतजार के बाद भारत बना विश्व विजेता: India won T20 World Cup 2024

India wins T20 World Cup

India won T20 World Cup 2024: भारत का T20 विश्व कप जीतने का 17 वर्षों पुराना इंतजार खत्म हुआ। शनिवार की रात भारत दक्षिण अफ्रीका को T20 विश्व कप के फाइनल में हराकर विश्व विजयी बना। भारत ने सात रनों से दक्षिण अफ्रीका पर जीत दर्ज की।

यह जीत इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि देश को इस लम्हे का लंबे समय से इंतजार था। भारत ने पहला T20 विश्व कप धोनी की अगुवाई में 2007 में जीता था। इसके बाद कई बार भारतीय टीम खिताब के करीब पहुंचकर रुक जा रही थी लेकिन 2024 के T20 विश्व कप में भारत शानदार तरीके से विश्व विजयी बना। T20 विश्व कप 2024 के टूर्नामेंट के सभी मैच जीतने वाला भारत फाइनल में भी जीत दर्ज कर अजेय बना रहा।

अहमदाबाद की कसक हुई पूरी

भारत की यह जीत इसलिए भी खास है क्योंकि इस जीत ने टीम इंडिया वह कसक भी पूरी कर दी जो 7 महीने पहले वनडे विश्व कप में अधूरी रह गई थी। वनडे विश्व कप में भी भारत पूरे टूर्नामेंट में अजेय रहा था लेकिन फाइनल मैच में ऑस्ट्रेलिया से हार गया। यह वो रात थी जब टीम इंडिया के साथ-साथ पूरा देश भी रो पड़ा था। उस समय ऐसा लगा था मानो मुंह के पास आकर निवाला छिन गया हो, लेकिन टीम इंडिया ने ठीक उसी अंदाज में T20 विश्व कप के फाइनल में जीत दर्ज की। या यूं कहें कि दक्षिण अफ्रीका के हाथों से जीत को छीन कर ले आए।

रोमांच से भरा रहा T20 विश्व कप का फाइनल

T20 विश्व कप का फाइनल मैच बहुत ही रोमांचक रहा। एक समय ऐसा था जब लग रहा था कि दक्षिण अफ्रीका जीत जाएगा। 15वें ओवर में दक्षिण अफ्रीका का स्कोर 3 विकेट पर 1951 रन था लेकिन 16वें ओवर में मैच में उस समय ट्विस्ट आया जब पांड्या की गेंद पर क्लासेन आउट हुए। यही से मैच का रूप पलट गया। इसके बाद सूर्य कुमार ने डेविड मिलर का बेहतरीन कैच लेकर भारत की जीत पक्की कर दी। आखिरी के पांच ओवरों में भारतीय गेंदबाजों ने न सिर्फ चार विकेट चटकाए बल्कि रनों पर भी अंकुश लगाया और दक्षिण अफ्रीका 8 विकेट पर 169 रन हीं बन सका। दिलों की धड़कन रोकने वाले इस फाइनल मैच में की भारत ने जिस तरह पाशा पलटा उसकी उम्मीद शायद ही किसी को रही होगी।

पूरी टूर्नामेंट में खामोश रहा विराट कोहली का बल्ला फाइनल में चमका

image 19

पूरे टूर्नामेंट में खामोश रहने वाला विराट कोहली के बल्ले से फाइनल मैच में जमकर रनों की बरसात हुई। विराट ने यानसेन के पहले ओवर में ही तीन चौका लगाकर यह बता दिया कि आज वह खामोश नहीं रहने वाले हैं। पहले ओवर में ही 15 रन बनाकर भारत 200 का स्कोर खड़ा करना चाह रहा था लेकिन पहले पावर प्ले में ही भारत के तीन महत्वपूर्ण बल्लेबाजों रोहित (9), ऋषभ पंत (0) और सूर्यकुमार यादव (3) का विकेट लेकर दक्षिण अफ्रीका ने मैच में वापसी की।

कोहली और अक्षर ने पारी को संभाला

चौथे विकेट के लिए 72 रनों की साझेदारी कर विराट और अक्षर पटेल ने पारी को संभाला। फाइनल मैच में विराट कोहली ने दक्षिण अफ्रीका के गेंदबाजों को धो डाला। विराट कोहली 19 वें ओवर में यानसेन की गेंद पर रबाडा द्वारा लपके गए।

महान कप्तानों की फेहरिस्त में शामिल हुए रोहित शर्मा

टीम को निराशा के गर्त से निकलकर विश्व चैंपियन बनाने वाले कप्तान के रूप में रोहित शर्मा याद किए जाएंगे। अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में 19 नवंबर 2023 की रात भारतीय क्रिकेट कप्तान रोहित शर्मा आंसुओं को लगभग छुपाते हुए पवेलियन लौट गए थे। पूरे टूर्नामेंट में अजेय रही भारतीय टीम को फाइनल में हार का सामना करना पड़ा था लेकिन 7 महीने बाद बाराबडोस में 37 साल के रोहित के हाथों में विश्व कप की ट्रॉफी थी। इसके साथ ही रोहित शर्मा ऐसे महानतम कप्तान में शुमार हो गए जिन्होंने टीम को निराशा के गर्त से निकलकर सफलता की चोटी पर पहुंच कर ही दम लिया।

image 20

रोहित शर्मा ने टीम को तब गिरने से बचाया जब सबसे ज्यादा जरूरत थी। चाहे वह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ विस्फोटक 92 रन हो या सेमीफाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ मुश्किल पिच पर ताबड़तोड़ 57 रन। परिस्थिति जैसी भी रही रोहित ने बाला चलाया। उनका यही बेखौफ इरादा टीम के लिए संजीवनी बन गया। पिछले वर्ष वनडे विश्व कप के फाइनल में हार के बाद कोई नहीं सोच सकता था कि टीम इंडिया रोहित की अगुवाई में T20 विश्व विजेता बनेगी।इसकी वजह थी 2022 के T20 विश्व कप सेमी फाइनल में इंग्लैंड से 10 विकेट की हार के बाद रोहित और विराट कोहली भविष्य की T20 योजनाओं से लगभग लगभग बाहर हो चूके थे। माना जा रहा था कि चयनकार्य अब 2024 के विश्व कप में हार्दिक पांड्या की अगुवाई में युवा टीम तैयार करने में जुटेंगे मगर संभवत: वनडे विश्व कप फाइनल की हार को रोहित ने चुनौती के तौर पर लिया। यही वजह है कि रोहित को एक अलहदा जिगर वाले कप्तान के तौर पर देखा जाएगा।

विश्व कप दिलाने वाले तीसरे कप्तान बने रोहित शर्मा

विश्व कप से पहले आईपीएल में खराब फार्म के चलते रोहित की आलोचना भी हुई मगर रोहित का ध्यान हमेशा लक्ष्य पर रहा। वह स्पष्ट थे कि उन्हें विश्व कप के लिए क्या चाहिए और रोहित टीम को विश्व कप दिलाने वाले तीसरे कप्तान बन गए। वह दिग्गज कपिल देव (1983 वनडे) और धोनी (2007 T20, और 2011 वनडे) के क्लब में शामिल हो गए। रोहित शर्मा दो बार T20 विश्व कप जीतने वाले अकेले भारतीय खिलाड़ी हैं। रोहित शर्मा 2007 में पहली बार फटाफट क्रिकेट में विश्व विजेता बनने वाली भारतीय टीम के भी सदस्य थे जिसके कप्तान महेंद्र सिंह धोनी थे।