क़ानूनी दाँव पेंच में Mehul choksi को INDIA लाना हुआ मुश्किल : PNB Scam

Dominica से mehul choksi को इंडिया वापस लाने के लिए विदेश मंत्रालय और CBI से 8 officer को भेजा गया था, परन्तु कानूनी दांव पेंच के चक्कर में ये केस और पेचीदा होता जा रहा है |
mehul choksi को Dominica में कुछ ख़ुफ़िया अधिकारीयों द्वारा गिरफ्त में लिया गया था , मेहुल चोकसी 13,000 Crore rupee का PNB Scam (Punjab national bank scam) का मुख्य आरोपी है |

Mehucl choksi & pnb scam

Mehul choksi

Mehul choksi deportation to india is being tough due to legal issues

Dominica से mehul choksi को इंडिया वापस लाने के लिए विदेश मंत्रालय और CBI से 8 officers को भेजा गया था, परन्तु कानूनी दांव पेंच के चक्कर में ये केस और पेचीदा होता जा रहा है |
mehul choksi को Dominica में कुछ ख़ुफ़िया अधिकारीयों द्वारा गिरफ्त में लिया गया था , मेहुल चौकसी 13,000 Crore rupee का PNB Scam (Punjab national bank scam) का मुख्य आरोपी है | 

28 may को एक private jet भी उसे वापस लेने के लिए भेजा गया था , पर अब ये मामला कानूनी अड़चनों में उलझता नज़र आ रहा है , क्यूंकि मेहुल चौकसी के वकील ने अब वहां के सर्वोच्च न्यायालय को गुजारिश की है |

किस प्रकार की कानूनी अड़चने आ रही हैं ? (What kind of legal issue's are being faced in bringing Mehul back to India?)

Mehul choksi के वकील vijay kumar aggarwal  के हवाले से कहा गया है की एंटीगुआ में honeytrap बिछाकर उसका अपहरण किया गया है , जबकि Antigua के अधिकारीयों का कहना है कि , वो यहां से भाग कर छुपने के लिए डॉमिनिका गया है |
वकील का कहना है की एक लड़की के जरिये इन्हे अपार्टमेंट में बुलाया गया , जहाँ पर कई सारे लोग थे और वहां उन्होंने मेहुल चौकसी से हाथापाई करते हुए , उन्हें किडनैप कर लिया , और Boat से डॉमिनिका ले गए |

Antigua and Barbuda के Prime Minister Gaston Alfonso Brown के अनुसार डॉमिनिका से मेहुल चौकसी को भारत भेज देना चाहिए , जबकि मेहुल चौकसी के वकील का तर्क है कि , चौकसी ने एंटीहुआ की नागरिकता ले ली है , और यहां तक की भारतीय पासपोर्ट भी वापस कर दिया है, तो इस हिसाब भारत वापस भेजने का कोई तर्क नहीं बनता है |
आपको बता दें की मेहुल चौकसी ने 2017 में ही Antigua की नागरिकता ले ली थी, वो भी भारत से 2018 में भागने से पहले ही |
भारतीय खुफिया एजेंसियों के अनुसार, उसके द्वारा दिए गए पासपोर्ट को भारत ने अभी तक कबूल नहीं किया था |