July 12, 2024

CA Day 2024: आइये जानते हैं चार्टर्ड अकाउंटेंट दिवस का महत्व एवं इतिहास

National Chartered Accountants Day or CA Day (राष्ट्रीय चार्टर्ड अकाउंट दिवस ) Importance and significance
National Chartered Accountants Day or CA Day 2024 ()1 July 2024)

National Chartered Accountants Day or CA Day: प्रत्येक वर्ष 1 जुलाई को चार्टर्ड अकाउंटेंट दिवस (Chartered Accountant Day) मनाया जाता है। जैसा कि हम सब जानते हैं कि इंस्टीट्यूट आफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (ICAI) 1 जुलाई 1949 को अस्तित्व में तब आया जब 1 जुलाई 1949 को संसद के अधिनियम द्वारा इसकी स्थापना की गई। अमेरिकन इंस्टिट्यूट ऑफ़ सर्टिफाइड पब्लिक अकाउंटेंट (AICPA) के बाद इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (ICAI) विश्व की दूसरी सबसे बड़ी लेखा संस्था है।

क्या है सीए दिवस का इतिहास? (What is the History Of Chartered Accountant Day)?

ब्रिटिश शासन के समय कंपनी अधिनियम के तहत सभी संस्थाएं अपने खातों का ठोस रिकॉर्ड रखती थी। स्वतंत्रता प्राप्ति से पूर्व ब्रिटिश सरकार ने 1913 में भारत में कंपनी अधिनियम पारित किया था। इस अधिनियम में उन पुस्तकों की एक सूची निर्धारित की गई थी जिन्हें अधिनियम के तहत पंजीकृत प्रत्येक फर्म को बनाए रखना था।

World Day for International Justice : विश्व अंतरराष्ट्रीय न्याय दिवस का महत्त्व एवं उद्देश्य

इन पुस्तकों का लेखा परीक्षण करने के लिए इसी अधिनियम द्वारा एक लेखा परीक्षक भी नियुक्त किया गया था। एडिटर के पद पर कार्य करने के लिए एक प्रमाण पत्र प्राप्त करना आवश्यक था। जो लोग यह प्रमाण पत्र प्राप्त करते थे उनको केवल प्रांत के भीतर और प्रमाण पत्र में उल्लेखित स्थानीय भाषा में ही अभ्यास करने का आदेश था।

1918 में मुंबई में एक पाठ्यक्रम शुरू किया गया जिसका नाम था ‘ गवर्नमेंट डिप्लोमा इन अकाउंटेंसी’ इस कोर्स को 3 वर्ष की प्रशिक्षण अवधि के साथ पूरा करने के बाद कोई भी व्यक्ति पूरे भारत में ऑडिटर के रूप में कार्य कर सकता था, लेकिन कुछ वर्षों पश्चात यह पाठ्यक्रम भी बंद कर दिया गया।

World Brain Day : आइए जानते हैं विश्व मस्तिष्क दिवस के इतिहास, महत्व और उद्देश्य के विषय में

ब्रिटिश सरकार ने 1930 में लेखाकारों का रजिस्टर नामक एक रजिस्टर बनाने का निर्णय लिया। इस रजिस्टर में नामित व्यक्ति को पंजीकृत लेखाकार कहा जाता था। कुछ वर्षों के पश्चात एक बोर्ड की स्थापना की गई, जिसका नाम था भारतीय लेखा बोर्ड।

भारत के गवर्नर जनरल को लेखांकन और लेखा परीक्षकों की योग्यता पर इस बोर्ड ने सलाह दी लेकिन अकाउंटेंसी का पेशा काफी हद तक अनियमित माना जाता था और ऑडिटरो की योग्यता पर भ्रम पैदा होता था। इसलिए स्वतंत्रता प्राप्ति के पश्चात मुद्दों के विश्लेषण के लिए 1948 में एक विशेषज्ञ समिति का गठन किया गया। इस समिति ने पेशे को विनियमित करने के लिए अकाउंटेंट का एक अलग स्वतंत्र संघ स्थापित करने की सिफारिश की।

भारतीय सरकार द्वारा समिति की सिफारिश को स्वीकार करके 1949 में चार्टर्ड अकाउंटेंट अधिनियम पारित कर दिया गया। इस अधिनियम की धारा 3 के तहत ICAI की स्थापना शाश्वत उत्तराधिकार और एक सामान्य मुहर के साथ एक कारपोरेट निकाय के रूप में की गई थी। भारतीय अकाउंटेंट के लिए उपयोग किए गए ‘ चार्टर्ड’ शब्द का ब्रिटिश के शाही चार्टर से कोई संबंध नहीं है।

Chandra Shekhar Azad Jayanti :भारत के महानतम स्वतंत्रता सेनानी चंद्रशेखर आजाद के जीवन से जुड़े 10 रोचक तथ्य

क्या है आईसीएआई (What is ICAI) ?

ICAI की स्थापना संसद के एक अधिनियम द्वारा देश में चार्टर्ड अकाउंटेंसी के पेशे को विनियमित करने के लिए की गई थी। ICAI दुनिया में दूसरा सबसे बड़ा पेशेवर चार्टर्ड अकाउंटेंट निकाय है जो भारत सरकार के कारपोरेट मामलों के मंत्रालय के तहत कार्य करता है। यह देश के सबसे पुराने व्यवसायिक संस्थानों में से एक है। ICAI भारत में वित्तीय लेखा परीक्षा और लेखांकन पेशे के लाइसेंस और विनियमन के लिए एकमात्र निकाय है।

15th July World Youth Skills Day 2024 :विश्व युवा कौशल दिवस का महत्त्व एवं उद्देश्य

चार्टर्ड अकाउंटेंट विनियम, 1988 और चार्टर्ड अकाउंटेंट अधिनियम, 1949 के प्रावधानों के अनुसार निकाय का प्रबंधन 40 सदस्यों वाली एक परिषद द्वारा किया जाता है। परिषद के 32 सदस्य चार्टर्ड अकाउंटेंट द्वारा चुने जाते हैं, जबकि शेष आठ सदस्य केंद्र सरकार द्वारा नामित होते हैं।

आईसीएआई के कर्तव्य (Duties of ICAI)

ICAI चार्टर्ड अकाउंटेंसी पेशे को विनियमित करने के अतिरिक्त इस क्षेत्र में अन्य कर्तव्यों का पालन करता है, जिसमें चार्टर्ड अकाउंटेंसी पाठ्यक्रम की शिक्षा और परीक्षा, मानक ऑडिटिंग प्रक्रियाओं को निर्धारित करना, लेखांकन मानकों का निरूपण करना, नैतिक मानकों को निर्धारित करना, अनुशासनात्मक क्षेत्राधिकार का प्रयोग करना, सदस्यों के प्रदर्शन के मानक सुनिश्चित करना, सहकर्मी समीक्षा माध्यम से गुणवत्ता की निगरानी करना तथा सरकार के नीतिगत मामलों पर इनपुट देना शामिल है।

चार्टर्ड अकाउंटेंट दिवस का महत्व (Significance of Chartered Accountant Day)

भारत देश के आर्थिक विकास में सीए महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। चार्टर्ड अकाउंटेंट को भारत में सबसे सम्मानित और महान व्यवसायों में से एक माना जाता है। चार्टर्ड अकाउंटेंट दिवस चार्टर्ड अकाउंटेंट्स को सम्मानित करने के लिए मनाया जाता है। भारत में अकाउंटिंग पेशे के बेहतर नियमन के लिए ICAI देश का सबसे पेशेवर संस्थान है। इस संस्था को धन्यवाद देने के लिए सीए दिवस (Chartered Accountant Day) मनाया जाता है।

05Th July:Father of DNA fingerprinting Lalji Singh Birthday : डीएनए टेस्ट के जनक लालजी सिंह की जयंती

प्रत्येक संगठन के सीए इस दिन को अपने तरीके से मनाते हैं। अपने संगठन के सीए के लिए कुछ संगठन इस दिन कुछ गतिविधियों का आयोजन करते हैं। कुछ संगठन अपने कार्यालय परिसर में जागरूकता गतिविधियां, पार्टियों, दान आदि गतिविधियों का संचालन करते हुए छूट की पेशकश शुरू करके अपने ग्राहकों का ख्याल रखते हैं। कुछ संगठन इन महान पहलों को प्रोत्साहित करते हैं।

कौन थे आईसीएआई के प्रथम अध्यक्ष ?(Who was the First President of ICAI) ?

ICAI के प्रथम अध्यक्ष थे गोपालदास पद्मसे कपाड़िया, जिन्हें ICAI ने पहला सीए सर्टिफिकेट दिया था। गोपाल दास कपाड़िया ने संस्थान के प्रथम अध्यक्ष के तौर पर सबसे लंबे समय तक काम किया था।ICAI के इतिहास में उन्होंने 1949 से 1952 तक शासन किया। उन्हें वर्ष 1950 में सदस्य प्रमाण पत्र जारी किया गया था। इसी के साथ वे देश के प्रथम सीए भी बन गए थे।

एक CA का पेशा लगातार कड़ी मेहनत, समर्पण और एकाग्रता की मांग करता है। सीए बनने वाले लोग वास्तव में एक प्रेरणा है। सीए के बिना कोई भी कंपनी काम नहीं कर सकती, कोई व्यवसाय नहीं बढ़ सकता और कोई भी देश समृद्ध नहीं हो सकता। सीए दिवस उन सभी कड़ी मेहनत और प्रतिबद्धता का उत्सव है, जो चार्टर्ड अकाउंटेंट अपने काम में लगाते हैं और देश को समृद्ध बनाने में मदद करते हैं।

Read More Interesting facts In Hindi: https://janpanchayat.com/category/interesting-facts/