July 12, 2024

पूर्व पीएम को पीछे छोड़ लगातार सातवीं बार Budget पेश करने का रिकॉर्ड बनाएंगी Nirmala Sitharaman: Union Budget 2024

पूर्व पीएम को पीछे छोड़ लगातार सातवीं बार Budget पेश करने का रिकॉर्ड बनाएंगी Nirmala Sitharaman

Union Budget 2024, Nirmala Sitharaman: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 23 जुलाई को लोकसभा में वित्तीय वर्ष 2024- 25 के लिए पूर्ण बजट पेश करेंगी। इससे पहले वित्त मंत्री ने लोकसभा चुनाव से पहले 1 फरवरी को अंतरिम बजट पेश किया था। संसदीय कार्य मंत्री किरेन रिजिजू ने एक्स पर पोस्ट कर बजट सत्र की तारीखों कर ऐलान कर दिया हैं।

मोरार जी देसाई के रिकॉर्ड को तोड़ लगातार सातवां बजट पेश करने वाली पहली वित्त मंत्री बनेगी निर्मला सीतारमण

मोदी सरकार 3.0 का पहला बजट 23 जुलाई को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पेश करेंगी। इसके साथ ही निर्मला सीतारमण लगातार सातवीं बार बजट पेश करने वाली प्रथम वित्त मंत्री का रिकॉर्ड बनाएंगी। इससे पहले प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई ने वित्त मंत्री रहते हुए लगातार छः बार बजट पेश किया था। बता दें कि निर्मला सीतारमण लगातार दूसरी बार वित्त मंत्री बनी हैं।

स्वतंत्र भारत की पहली पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री होने का रिकॉर्ड

निर्मला सीतारमण ने अपने राजनीतिक कैरियर में कई बड़ी उपलब्धियां हासिल की हैं और उनकी उपलब्धियां बढ़ती ही जा रही हैं। मोदी सरकार में लगातार तीसरे कार्यकाल के लिए मंत्री के रूप में शामिल होने वाली पहली महिला बनने का रिकॉर्ड बनाया है।

इससे पहले 2017 में वह पहली महिला रक्षा मंत्री बनीं। रक्षा मंत्री बनने से पूर्व वह उद्योग और वाणिज्य मंत्री थीं। मोदी सरकार के पहले कार्यकाल (2014 2019) के दौरान अरुण जेटली वित्त मंत्री थे लेकिन अरुण जेटली के बीमार होने पर सीतारमण ने 2019 के आम चुनाव के बाद मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में वित्त विभाग का प्रभार संभाला और स्वतंत्र भारत में पहली पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री बनीं। हालांकि इससे पहले इंदिरा गांधी ने भारत की प्रधानमंत्री रहते हुए कुछ समय के लिए अतिरिक्त विभाग के रूप में वित्त का कार्यभार संभाला था।

ब्रिटेन में लेबर पार्टी को प्रचंड बहुमत दिलाकर प्रधानमंत्री बनने वाले कौन हैं Keir Starmer ?

निर्मला सीतारमण राजनीति में आने से पहले ब्रिटेन में कारपोरेट जगत का हिस्सा थीं। उन्होंने हैदराबाद में सेंटर फॉर पब्लिक पॉलिसी स्टडीज की उपनिदेशक के रूप में कार्य किया। 2003 से 2005 तक निर्मला सीतारमण राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य भी रहीं।