July 12, 2024

Hathras Stampede: हाथरस में साकार हरि बाबा के एक सत्संग में मची भगदड़, 120 लोगों की मौत

हाथरस में साकार हरि बाबा के एक सत्संग में मची भगदड़, 120 लोगों की मौत_Hathras accident_Sakar hari baba

Hathras Stampede: उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले के सिकंदराराऊ कस्बे के फुलरई गांव में मंगलवार को बड़ा हादसा हो गया। यूपी के हाथरस जनपद में सिकंदराराऊ थाना अंतर्गत फुलरई मुगलबाड़ी के एक खेत में साकार हरि बाबा का एकदिवसीय सत्संग चल रहा था, जहां भगदड़ मच गई जिसमें 120 लोगों की मौत हो गई है।

क्या है हादसे की वजह ?

साकार हरि बाबा के सत्संग में बच्चों के साथ महिलाएं और पुरुष बाबा का प्रवचन सुन रहे थे। लगभग पौने दो बजे सत्संग खत्म हुआ सत्संग समाप्त होने पर बाबा के अनुयाई सड़क की ओर जाने लगे। लेकिन कहा जा रहा है की सेवादारों ने 50,000 की संख्या में अनुयायियों को वहीं रोक कर साकार हरि बाबा के काफिले को वहां से निकला। बाबा के जाने के बाद जैसे ही सेवादारों ने अनुयायियों को जाने के लिए कहा, वहां भगदड़ की स्थिति बन गई। सूत्रों की माने तो उमस और भीड़ में दम घुटने से अनुयाई वहीं बेहोश होकर गिर गए।

कई राज्यों से आए थे अनुयायी

इस सत्संग में राजस्थान मध्य प्रदेश हरियाणा सहित कई राज्यों के लोग आए थे जो लोग इस सत्संग में शामिल होने आए थे और भगदड़ का शिकार हुए। उन्होंने बताया कि मौके पर कैसा मंजर था। एक युवती ने बताया कि सत्संग में बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ उमड़ी हुई थी। सत्संग समाप्त होने के बाद जब लोग जाने लगे तो निकालने की जल्दी में भगदड़ मच गई। महिलाएं और बच्चे गिरते चले गए। भीड़ उनके ऊपर से दौड़ रही थी। बचाने वाला कोई नहीं था। इस सत्संग में भीड़ का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि वाहनों की संख्या 3 किलोमीटर तक फैली हुई थी।

हादसे पर राष्ट्रपति प्रधानमंत्री और राहुल गांधी समेत कई नेताओं ने व्यक्त किया शोक

हाथरस में हुए हादसे पर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राहुल गांधी ,अमित शाह, मायावती समेत कई नेताओं ने गहरा दुख व्यक्त किया।

सेना के इतिहास में पहली बार दो साथ पढ़े मित्र साथ-साथ संभालेंगे थल सेना और नौसेना की कमान

हादसे के शिकार लोगों को पीएम मोदी ने की अनुग्रह राशि देने की की घोषणा

हाथरस हादसे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताया और मदद का ऐलान किया है। पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री राहत कोष से प्रत्येक मृतक के निकट संबंधियों को 2 लाख रुपए तथा हादसे में घायल हुए लोगों को 50,000 की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है। प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी बात की और पीड़ितों को समय पर सहायता का आश्वासन दिया।