“The Vaccine War Movie” : बॉलीवुड की पहली बायो- साइंस फिल्म- “द वैक्सीन वार” विवेक अग्निहोत्री द्वारा

“The Vaccine War Movie” : बॉलीवुड की पहली बायो- साइंस फिल्म- “द वैक्सीन वार” डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री (Vivek Agnihotri) द्वारा
फिल्म ‘ द वैक्सीन वार बायो- साइंस की दुनिया में बॉलीवुड की पहली शुरुआत है। आइए जानते हैं फिल्म के निर्माता, निर्देशक, और कलाकारों एवं फिल्म की कहानी के बारे में-
प्रोड्यूसर- पल्लवी जोशी
डायरेक्टर- विवेक अग्निहोत्री
मुख्य कलाकार- नाना पाटेकर, पल्लवी जोशी, राइमा सेन, अनुपम खेर और सप्तमी गौड़ा।

About The Vaccine War_Janpanchayat Hindi Blogs

बॉलीवुड की पहली बायो- साइंस फिल्म- "द वैक्सीन वार"

विवेक रंजन अग्निहोत्री “द कश्मीर फाइल्स” (The Kashmir Files) के बाद एक बार फिर एक ऐसी फिल्म लेकर आए हैं जो कोरोना महामारी के समय हो रही वैक्सीन बनाने की जद्दोजहद पर आधारित है। विवेक अग्निहोत्री की फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ ने बॉक्स ऑफिस पर धूम मचाई थी।

विवेक अग्निहोत्री की फिल्म “द कश्मीर फाइल्स” ने देश को हिला कर रख दिया था। ‘द वैक्सीन वार’ (The Vaccine War) फिल्म की पहली झलक भी एक डराने वाली सच्चाई से पर्दा उठा रही है। फिल्म ‘ द वैक्सीन वार बायो- साइंस की दुनिया में बॉलीवुड की पहली शुरुआत है।

आइए जानते हैं फिल्म के निर्माता, निर्देशक, और कलाकारों एवं फिल्म की कहानी के बारे में-

प्रोड्यूसर- पल्लवी जोशी (Pallavi Joshi)
डायरेक्टर- विवेक अग्निहोत्री (Vivek Agnihotri)
मुख्य कलाकार- नाना पाटेकर, पल्लवी जोशी, राइमा सेन, अनुपम खेर और सप्तमी गौड़ा।

क्या है 'द वैक्सीन वार' की कहानी (What is the story of "The Vaccine War"?)

फिल्म में वैज्ञानिकों की जद्दोजहद को दिखाया गया है। देश में कोरोना की वजह से हजारों, लाखों लोगों की जाने जा रही थी। लेकिन कोरोना का इलाज नहीं मिल पा रहा था। इन परिस्थितियों में इस महामारी से लड़ने के लिए वैज्ञानिक वैक्सीन बनाने का फैसला लेते हैं। लेकिन वैज्ञानिकों के इस मिशन में राजनीति से लेकर मीडिया तक कई तरह की बाधाओ को दिखाया गया है। कठिन परिस्थितियों व बाधाओं को पार करते हुए वैज्ञानिकों को देश की पहली वैक्सीन बनाने में सफलता मिल जाती है।

क्या है फिल्म का ट्रेलर ?

‘द वैक्सीन वार’ (The Vaccine War) फिल्म का ट्रेलर 3 मिनट का है,  जिसमें नाना पाटेकर, पल्लवी जोशी से फोन पर बात कर रहे करते हैं और कहते हैं ‘सुना मैंने, आपके साइंटिस्ट के पास 1लाख रुपए भी नहीं थे।’

पल्लवी जोशी जवाब देती है, ‘मेरे नहीं सर, भारत के साइंटिस्ट।’

नाना पाटेकर वैक्सीन बनाने का काम शुरू करने का फैसला लेते हैं लेकिन आगे सवाल उठाया जाता है कि क्या 130 करोड़ लोगों की जान बचाने में भारत का इंफ्रास्ट्रक्चर समर्थ है।

ट्रेलर में राइमा सिंह की एंट्री होती है वह कहती है,
‘एक्सपर्ट की माने तो भारत यह नहीं कर सकता।’
पल्लवी जोशी पूछती हैं , भारत यह नहीं कर सकता लेकिन यह नॉरेटिव सेट कौन कर रहा है।’ किस तरह साइंटिस्ट वैक्सीन बनाने के लिए संघर्ष करते हैं ट्रेलर में आगे दिखाया जाता है।

Play Video about About The Vaccine War_Janpanchayat Hindi Blogs

फिल्म में नाना पाटेकर दमदार भूमिका में है। वैक्सीन बनाने के लिए वह पूरी टीम का हौसला बढ़ाते हैं और वैक्सीन को एक युद्ध बताते हैं।

बॉलीवुड की पहली बायो साइंस फिल्म

फिल्म ‘द वैक्सीन वार’ भारत की पहली बायो साइंस फिल्म है। यह फिल्म भारत बायोटेक और इंडियन काउंसिल आफ मेडिकल रिसर्च द्वारा कोवैक्सीन बनाने की यात्रा को दर्शाएगी।

फिल्म का प्रोडक्शन विवेक अग्निहोत्री और पल्लवी जोशी के प्रोडक्शन हाउस ‘आई एम बुद्धा’ के बैनर तले किया गया है।

The Vaccine War_द वैक्सीन वार_ Nana patekar_Bollywood movies

कब रिलीज होगी फिल्म 'द वैक्सीन वार'

‘ द वैक्सीन वार’ 28 सितंबर 2023 को सिनेमाघरों में रिलीज होगी। ‘द वैक्सीन वार’ हिंदी, अंग्रेजी, तेलुगू, तमिल, मलयालम, कन्नड़, भोजपुरी, पंजाबी, गुजराती, मराठी और बंगाली में रिलीज होगी।

फिल्म डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री ने क्या कहा?

विवेक अग्निहोत्री फिल्म ‘ द वैक्सीन वार के प्रमोशन में जुट गये है। फिल्म के बारे में वह सोशल मीडिया से लेकर अन्य माध्यमों पर बता रहे हैं। फिल्म के बारे में बताते हुए विवेक अग्निहोत्री ने कहा की फिल्म कोविड-19 के दौरान वैक्सीन बनाने की कहानी है। फिल्म के माध्यम से वह यह बताना चाहते हैं कि किस तरह देश के ही कुछ लोग इस देश के दुश्मन बन गए थे। ऐसे लोग राजनीतिक फायदे के लिए ज्यादा से ज्यादा मौतें चाहते थे।

एकसमाचार एजेंसी से बात करते हुए विवेक अग्निहोत्री ने कहा “कोविड के समय सबके मन में यही सवाल था कि, हम बचेंगे या नहीं।” ऐसे में राजनीतिक लाभ के लिए बहुत से लोग थे जो चाहते थे कि भारत में ज्यादा से ज्यादा मौतें हो। अपने ही देश को अपने ही देश के लोग बेचना चाह रहे थे। और विदेशी वैक्सीन लाने को कह रहे थे। ऐसे में हमारे वैज्ञानिकों ने अपनी जान पर खेल कर विश्वास दिलाया कि भारत यह कर सकता है। इन वैज्ञानिकों ने वैक्सीन बना कर ना केवल 130 करोड़ भारतीयों की जान बचाई बल्कि 101 देश में अपनी वैक्सीन भेज कर जरूरतमंद लोगों की भी जान बचाई।

फिल्म का ट्रेलर रिलीज होने के बाद से दर्शकों में उत्साह बढ़ गया है। उम्मीद है कि ‘द कश्मीर फाइल्स’ की तरह ‘ द वैक्सीन वार’ भी एक सफल फिल्म साबित होगी। 2022 में 14- 15 करोड़ की लागत से बनी ‘द कश्मीर फाइल्स’ ने 252.90 करोड़ का ताबड़तोड़ कलेक्शन किया था। फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ 2022 की चुनिंदा सफल फिल्मों में से एक थी। ‘द वैक्सीन वार से भी ऐसी ही उम्मीद जताई जा रही है।

Read More About Entertainment News In Hindi