June 25, 2024

CISF Raising Day 2023 : कब और क्यों मनाया जाता है CISF स्थापना दिवस ?

CISF Raising Day 2023 : केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल गृह मंत्रालय के तहत भारत में एक संघीय पुलिस संस्था है, जिसका स्थापना दिवस 10 मार्च को मनाया जाता है। केंद्रीय सुरक्षा बल भारत के छह अर्ध सैनिक बलों में से एक है। यह गृह मंत्रालय के अंतर्गत आता है। भारत में CISF का 54 वां स्थापना दिवस 10 मार्च 2023 को मनाया जा रहा है। CISF की स्थापना 1969 में हुई थी CISF का मुख्यालय दिल्ली में है ।इसे पैरामिलिट्री फोर्स भी कहा जाता है।
केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल क्या है? और इसकी स्थापना कब हुई? और क्या है इसका इतिहास? आइए जानते हैं

CISF Raising Day 2023_CISF स्थापना दिवस

CISF Raising Day (केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल स्थापना दिवस ) 10th March

CISF Raising Day (केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल स्थापना दिवस ) : 
केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल गृह मंत्रालय के तहत भारत में एक संघीय पुलिस संस्था है, जिसका स्थापना दिवस 10 मार्च को मनाया जाता है। केंद्रीय सुरक्षा बल भारत के छह अर्ध सैनिक बलों में से एक है। यह गृह मंत्रालय के अंतर्गत आता है। भारत में CISF का 54 वां स्थापना दिवस 10 मार्च 2023 को मनाया जा रहा है। CISF की स्थापना 1969 में हुई थी CISF का मुख्यालय दिल्ली में है ।इसे पैरामिलिट्री फोर्स भी कहा जाता है।
केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल क्या है? और इसकी स्थापना कब हुई? और क्या है इसका इतिहास? आइए जानते हैं

CISF का इतिहास ( History of CISF)

संसद में एक अधिनियम पारित होने के पश्चात केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल की स्थापना 10 मार्च 1969 को हुई थी। संसद के एक अन्य अधिनियम में 1983 में केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल की स्थापना भारत के 1 सशस्त्र बल के रूप में की गई थी जिसे 15 जून 1983 को कानून रूप में पारित किया गया। CISF स्थापना दिवस प्रत्येक वर्ष 10 मार्च को केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के स्थापना दिवस के रूप में मनाया जाता है।

क्या है CISF? (What is CISF)

CISF का पूरा नाम है Central Industrial Security Force जो केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के नाम से जाना जाता है। केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल की स्थापना देश में औद्योगिक प्रतिष्ठानों की सुरक्षा के लिए की गई थी। संसद के एक अलग अधिनियम द्वारा CISF को सशस्त्र बल बनाया गया था। इस अधिनियम को 15 जून 1983 को पारित किया गया था। सरकार के संवेदनशील प्रतिष्ठानों और अन्य महत्वपूर्ण सुविधाओं की सुरक्षा करना तथा बेहतर सुरक्षा प्रदान करना CISF का प्रमुख कर्तव्य है। यह सुरक्षा बल, बैराज, उर्वरक इकाइयां, हवाई अड्डे, तापीय बिजली संयंत्र जैसे औद्योगिक क्षेत्र को सुरक्षा प्रदान करता है। CISF द्वारा ही भारतीय मुद्रा का उत्पादन करने वाली करंसी नोट प्रेस भी संरक्षित है।CISF भारत में 353 से अधिक औद्योगिक इकाइयों और सरकारी बुनियादी ढांचा परियोजनाओं को सुरक्षा प्रदान करता है। भारत सरकार के भीतर निजी उद्योगों और अन्य संगठनों को परामर्श सेवाएं भी CISF प्रदान करता है। कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस बल के लिए भी CISF की कुछ बटालियन काम करती हैं। उद्योगों में किसी भी दुर्घटना के दौरान CISF का ‘ फायर विंग’ मदद करता है।

CISF के पद

  1. असिस्टेंट कमांडेंट
  2. सब- इंस्पेक्टर
  3. असिस्टेंट सब- इंस्पेक्टर
  4. हेड कांस्टेबल
  5. ड्राइवर
  6. कांस्टेबल

क्यों मनाया जाता है CISF का स्थापना दिवस ? (Why is the raising day of CISF celebrated?)

 महत्वपूर्ण औद्योगिक उद्यमाें और क्षेत्रों के लिए सुरक्षा में गंभीरता के प्रति CISF दिवस के माध्यम से जागरूकता फैलाया जाता है। CISF के स्थापना दिवस के अवसर पर CISF कर्मियों को सम्मानित किया जाता है। सार्वजनिक क्षेत्रों सहित राष्ट्रीय औद्योगिक उद्यमों को बेहतर सुरक्षा प्रदान करना CISF का लक्ष्य है। अतः यह सुरक्षा बल देश के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है और लोगों में CISF के महत्व के विषय में जागरूकता फैलाना ही CISF का स्थापना दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य है। जिन उद्योगों में CISF गार्ड हैं, वहां CISF का ‘ फायर विंग’ दुर्घटनाओं के दौरान मदद करता है। इसके अतिरिक्त यह आपदा प्रबंधन में भी एक प्रमुख भूमिका निभाता है।

कैसे मनाया जाता है CISF का स्थापना दिवस ?

CISF के स्थापना दिवस के अवसर पर अधिकारियों द्वारा परेड का आयोजन किया जाता है। इस दिन CISF कर्मियों को उनकी नि:स्वार्थ सेवा के लिए पदक प्रदान करके सम्मानित किया जाता है। CISF के स्थापना दिवस के अवसर पर नागरिकों को प्रमुख संस्थानों की सुरक्षा के लिए CISF कर्मियों के साथ सहयोग करने के लिए सूचित किया जाता है तथा नागरिकों के बीच जागरूकता बढ़ाकर इस दिन को मनाया जाता है। CISF अधिकारी परेड के साथ CISF का स्थापना दिवस मनाते हैं।CISF के स्थापना दिवस के अवसर पर लोगों को यह संदेश दिया जाता है कि देश में शांति और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए CISF कर्मियों के साथ सहयोग अत्यंत महत्वपूर्ण है।

CISF के स्थापना दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था-

 “वीआईपी संस्कृति कभी-कभी सुरक्षा संरचना में बाधा उत्पन्न करती है। इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि नागरिक सुरक्षा कर्मियों के साथ सहयोग करें।”