10 facts About Lal bahadur Shastri Ji (लाल बहादुर शास्त्री जी के जीवन से जुड़ी 10 दिलचस्प बातें) : Lala Bahdur Shastri jayanti

श्री लाल बहादुर शास्त्री का जन्म 2 अक्टूबर 1904 को उत्तर प्रदेश के वाराणसी से सात मील दूर एक छोटे से रेलवे टाउन, मुगलसराय में हुआ था। उनके पिता एक स्कूल शिक्षक थे। जब लाल बहादुर शास्त्री केवल डेढ़ वर्ष के थे तभी उनके पिता का देहांत हो गया था। \

Lala Bahadur Shastri Jayanti 2022, Lala bahadur Shatri Birth anniversary

Shri Lal Bahadur Shastri was born on 2 October 1904 in Mughalsarai, a small railway town seven miles from Varanasi, Uttar Pradesh. His father was a school teacher. His father died when Lal Bahadur Shastri was only one and a half years old. His mother settled down with his three children at his father’s house.

Lal Bahadur shahtri Jayanti 2022Wishes

Shri Lal Bahadur Shastri Jayanti (श्री लाल बहादुर शास्त्री  जयंती  )

श्री लाल बहादुर शास्त्री (Shri Lal Bahadur Shastri) का जन्म 2 अक्टूबर 1904 को उत्तर प्रदेश के वाराणसी से सात मील दूर एक छोटे से रेलवे टाउन, मुगलसराय में हुआ था। उनके पिता एक स्कूल शिक्षक थे। जब लाल बहादुर शास्त्री केवल डेढ़ वर्ष के थे तभी उनके पिता का देहांत हो गया था। उनकी माँ अपने तीनों बच्चों के साथ अपने पिता के घर जाकर बस गईं।

आइये देखते हैं श्री लाल बहादुर शास्त्री जी के जीवन से जुड़े कुछ रोचक तथ्य (10 interesting facts related to the life of Shri Lal Bahadur Shastri.)

  1. देश के दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री (Lal Bahadur Shastri) भारत की स्वतंत्रता की लड़ाई में पहली बार 17 साल की उम्र में जेल गए लेकिन बालिग न होने की वजह से उनको छोड़ दिया गया।
  2. काशी विद्यापीठ से संस्कृत की पढ़ाई करने के बाद जब लाल बहादुर शास्त्री(Lal Bahadur Shastri) जी निकले तो उन्हें ‘शास्त्री’ की उपाधि दी गई. उसके बाद उन्होंने अपने नाम लाल बहादुर के आगे ‘शास्त्री’ लगाना शुरू कर दिया.
  3. 16 साल की उम्र में शास्त्री जी पढ़ाई छोड़कर आजादी के आंदोलन में कूद पड़े और गांधी जी के असहयोग आंदोलन में शामिल हो गए.
  4. ‘जय जवान जय किसान’ (Jai Jawan Jai Kisan )का नारा हमें श्री लाल बहादुर शास्त्री जी ने दिया
  5. श्री लाल बहादुर शास्त्री जी लाला लाजपत राय द्वारा स्थापित लोक सेवक मंडल के भी आजीवन सदस्य रहे थे सर्वेंट्स ऑफ़ द पीपुल सोसाइटी के रूप में भी जाना जाता था |
  6. 1964 में लाल बहादुर शास्त्री के प्रधानमंत्री के कार्यकाल में 1965 में भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध हुआ.
  7. श्री लाल बहादुर शास्त्री जी ने अपने प्रधानमन्त्री कार्यकाल के दौरान उन्होंने हरित और श्वेत क्रांति को प्रोत्साहित और बढ़ावा देने का कार्य किया और गुजरात के आनंद में स्थित अमूल दूध सहकारी के साथ मिलकर राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड की स्थापना की |
  8. श्री लाल बहादुर शास्त्री (Lal Bahadur Shastri) जी ने पाकिस्तान से युद्ध के बाद देश में हो रही अनाज की कमी और अमेरिका द्वारा भारत को अनाज ना देने की धमकी के बाद सभी देशवासियों से हफ्ते में 1 दिन का खाना 1 वक्त के लिए छोड़ने की अपील की थी |
  9. श्री लाल बहादुर शास्त्री जी बहुत सुलझे हुए और भावनात्मक व्यक्तित्व के मालिक थे। प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए उन्होंने लाठीचार्ज की बजाय पानी की बौछार का सुझाव दिया जिसे बहुत पसंद किया गया।
  10. शास्त्री जी ने 11 जनवरी, 1966 को ताशकंद में अंतिम सांस ली थी. 10 जनवरी 1966 को ताशकंद में पाकिस्तान के साथ शांति समझौते पर करार के महज 12 घंटे बाद (11 जनवरी) लाल बहादुर शास्त्री की मृत्यु हो गई थी.

भारत मां के लाल की बहादुरी पर सबको नाज है, लाल बहादुर शास्त्री जी (Lala Bahadur shatri) जैसे वीर सपूत की जरूरत भारत को आज है।

लाल बहादुर शास्त्री जयंती की आप सभी को हार्दिक बधाई। (A very Happy Lal Bahadur Shastri Jayanti to everyoneLal Bahadur Shastri will always be remembered for his leadership and courag)