World Hepatitis Day : विश्व हेपेटाइटिस दिवस का इतिहास

World Hepatitis Day 2023 : विश्व हेपेटाइटिस दिवस (World Hepatitis Day)हेपेटाइटिस के बारे में जागरूकता फैलाने और लोगों को शीघ्र निदान,रोकथाम और हेपेटाइटिस के उपचार को बढ़ावा देने के लिए प्रत्येक वर्ष 28 जुलाई को मनाया जाता है। हेपेटाइटिस यकृत की एक गंभीर बीमारी है जो कई तरह के वायरस, बैक्टीरिया या परजीवी के कारण हो सकती है। हेपेटाइटिस संक्रामक बीमारियों का एक समूह है लेकिन इसका अर्थ यह नहीं कि छूने मात्र से फैलती है। यह रोग होने पर परिवार के किसी सदस्य को अलग रखने की आवश्यकता नहीं होती। परिवार के सदस्यों को संक्रमण मुक्त रखने के लिए कुछ सावधानियां बरतना आवश्यक होता है। हेपेटाइटिस गंभीर जानलेवा बीमारी है। इसका उपचार आम लोगों के लिए बहुत महंगा होता है। अतः हेपेटाइटिस होने के कारणों को जानकर इससे बचा जा सकता है।

World Hepatitis Day 2023_विश्व हेपेटाइटिस दिवस_Janpanchayat Hindi Blogs

विश्व हेपेटाइटिस दिवस || World Hepatitis Day 2023 || 28 July 2023

विश्व हेपेटाइटिस दिवस (World Hepatitis Day)हेपेटाइटिस के बारे में जागरूकता फैलाने और लोगों को शीघ्र निदान,रोकथाम और हेपेटाइटिस के उपचार को बढ़ावा देने के लिए प्रत्येक वर्ष 28 जुलाई को मनाया जाता है। हेपेटाइटिस यकृत की एक गंभीर बीमारी है जो कई तरह के वायरस, बैक्टीरिया या परजीवी के कारण हो सकती है। हेपेटाइटिस संक्रामक बीमारियों का एक समूह है लेकिन इसका अर्थ यह नहीं कि छूने मात्र से फैलती है। यह रोग होने पर परिवार के किसी सदस्य को अलग रखने की आवश्यकता नहीं होती। परिवार के सदस्यों को संक्रमण मुक्त रखने के लिए कुछ सावधानियां बरतना आवश्यक होता है। हेपेटाइटिस गंभीर जानलेवा बीमारी है। इसका उपचार आम लोगों के लिए बहुत महंगा होता है। अतः हेपेटाइटिस होने के कारणों को जानकर इससे बचा जा सकता है।

हेपेटाइटिस क्या है (What is Hepatitis) ?

हेपेटाइटिस संक्रामक बीमारियों का एक समूह है, जिसे हेपेटाइटिस ए,बी,सी,डी और ई के रूप में जाना जाता है। यह लिवर से जुड़ी बीमारी है। जिसमें लिवर में सूजन आ जाती है, जिसके परिणाम स्वरूप लीवर कैंसर या लीवर सिरोसिस जैसी घातक बीमारी हो सकती है। हेपेटाइटिस आमतौर पर वायरल संक्रमण के कारण होता है। हेपेटाइटिस के कारण प्रत्येक वर्ष 10 लाख से अधिक मौतें होती हैं। जहां तपेदिक और एचआईवी से होने वाली मौतों में कमी आ रही है, वही हेपेटाइटिस से होने वाली मौतें बढ़ रही हैं।

विश्व हेपेटाइटिस दिवस का इतिहास (History Of World Hepatitis Day)

विश्व हेपेटाइटिस दिवस डॉक्टर बारूक सैमुअल ब्लॉमबर्ग के जन्म दिवस 28 जुलाई को मनाया जाता है। डॉक्टर ब्लमबर्ग एक चिकित्सक और आनुवंशिकीविद थे। ब्लमबर्ग को पहला हेपेटाइटिस बी का टीका विकसित करने के लिए नोबेल पुरस्कार दिया गया था। उनकी उपलब्धियों और प्रयासों के सम्मान में उनके जन्मदिन पर 28 मई को विश्व हेपेटाइटिस दिवस के रूप में चुना गया था। पहला अंतरराष्ट्रीय हेपेटाइटिस जागरूकता दिवस 1 अक्टूबर 2004 को आयोजित किया गया था।विश्व हेपेटाइटिस एलायन्स ने अन्य रोग संगठनों के सहयोग से 2008 में 19 मई को पहले विश्व हेपेटाइटिस दिवस के रूप में स्थापित किया। लेकिन बाद में डॉक्टर ब्लमबर्ग के योगदान को स्वीकार करने के लिए 2010 में विश्व स्वास्थ्य सभा के दौरान 28 जुलाई को हेपेटाइटिस दिवस स्थानांतरित करने के लिए एक प्रस्ताव अपनाया गया और 28 जुलाई को ‘ विश्व हेपेटाइटिस दिवस’ (World Hepatitis Day)के रूप में घोषित किया गया।

हेपेटाइटिस के लक्षण (Symptoms of Hepatitis)

हेपेटाइटिस में लीवर में सूजन हो जाती है। लीवर अथवा यकृत हमारे शरीर का एक अभिन्न अंग है। यह खून में टॉक्सिंस को साफ करने के साथ ही भोजन पचाने की प्रक्रिया में सहायता करता है। हेपेटाइटिस होने पर संक्रमण के कारण यकृत में सूजन आ जाती है। हेपिटाइटिस वायरस के एक समूह के कारण होता है जिसे हेपोटोट्रॉपिक वायरस के रूप में जाना जाता है। इसमें ए,बी,सी,डी,ई शामिल है। हेपेटाइटिस क्रॉनिक और एक क्यूट दो प्रकार का होता है। एक्यूट हेपेटाइटिस आमतौर पर HB इंफेक्शन के कारण होता है। यह 6 महीने तक रहता है जबकि क्रॉनिक हेपेटाइटिस लंबे समय तक बने रहने की अवस्था है। क्रॉनिक हेपिटाइटिस रोगी के इम्युन सिस्टम को बुरी तरह प्रभावित करता है।हेपेटाइटिस सीमित या लक्षण रहित हो सकता है। लेकिन प्राय :कुछ लक्षण भी दिखाई देते हैं जो इस प्रकार है-

 

  • पेट में दर्द और सूजन होना
  • भूख कम लगना
  • उल्टी आना या जी मिचलाना
  • त्वचा का रंग पीला पड़ना
  • आंखों के सफेद हिस्से का रंग पीला पड़ जाना
  • सिर दर्द और चक्कर आना
  • अचानक वजन कम होना
  • पीलिया होना या कई सप्ताह तक बुखार रहना
  • पेशाब का रंग बदलना

हेपेटाइटिस के क्या है कारण(What is the Causes of Hepatitis) ?

हेपेटाइटिस रोग के कारण निम्न है-

  • हेपेटाइटिस ‘ए’ दूषित आहार और पानी से फैलता है।
  • हेपेटाइटिस ‘ बी’ संक्रमित माता से उसके नवजात शिशु में प्रसारित हो सकता है।
  • हेपेटाइटिस ‘सी’ संक्रमित रक्त और सुइयो द्वारा हो सकता है।
  • हेपेटाइटिस ‘डी’ संक्रमित रक्त और संक्रमित सुइयों द्वारा हो सकता है।
  • हेपेटाइटिस ‘ई’ दूषित पानी से होता है।

हेपेटाइटिस से बचाव के क्या है उपाय ?

कुछ सावधानियां बरतकर हेपेटाइटिस से बचा जा सकता है जैसे-

  • हेपेटाइटिस की जांच करवाएं
  • कम वसायुक्त और उच्च रेशा युक्त आहार का सेवन करें
  • अल्कोहल, तंबाकू से बचें
  • संतृप्त वसा से बचें
  • अधिक से अधिक मात्रा में तरल पदार्थों का सेवन करें
  • स्वस्थ कैलोरी का सेवन करें
  • अधिक नमक युक्त खाद्य पदार्थों के सेवन से बचें
  • डिब्बाबंद आहार, सोडा केक और कुकीज जैसे मीठे आहार का सेवन करने से बचें
  • दुग्ध उत्पादन कर का सेवन करें
  • गर्भावस्था के दौरान परीक्षण अवश्य कराएं
  • जीवाणु रहित चिकित्सा उपकरणों का उपयोग करें

भारतीय परिदृश्य

भारत में हेपेटाइटिस ए से इ के कारण होने वाले वायरल हेपिटाइटिस अभी भी एक प्रमुख सार्वजनिक समस्या बनी हुई है। भारत में हेपेटाइटिस ‘ बी’ वायरस से लगभग 40 मिलियन लोग संक्रमित हैं।

वैश्विक परिदृश्य

हेपिटाइटिस वायरस के पांच प्रमुख प्रकारों में से हेपेटाइटिस बी और सी सबसे आम कारण है जिससे सालाना 1.3 मिलीयन मौतें होती हैं।2030 तक हेपेटाइटिस के वैश्विक उन्मूलन का लक्ष्य रखा गया है।

विश्व हेपेटाइटिस दिवस का महत्व(Significance of World Hepatitis Day)

वैश्विक स्तर पर मृत्यु के प्रमुख कारणों में से एक है वायरल हैपेटाइटिस। इस बीमारी से प्रत्येक वर्ष 1.34 मिलियन मौतें होती है। विश्व में 80% लिवर कैंसर का कारण हेपेटाइटिस बी वायरस और सी वायरस बनते हैं। हेपेटाइटिस वास्तव में एक वैश्विक महामारी है। वर्तमान में हेपेटाइटिस बी से पीड़ित 90% और हेपिटाइटिस सी से पीड़ित 80% लोगों को अपनी स्थिति के बारे में जानकारी नहीं है। जिसके परिणाम स्वरूप उनको कभी भी घातक (लीवर) यकृत रोग होने और कुछ मामलों में अनजाने में दूसरों तक संक्रमण फैलाने की वास्तविक संभावना हो सकती है। हेपिटाइटिस बी के लिए प्रभावी तरीकों और उपचारों की उपलब्धियों और हेपेटाइटिस सी के इलाज के साथ वायरल हेपिटाइटिस का उन्मूलन संभव है। विश्व हेपेटाइटिस दिवस(World Hepatitis Day)वायरल हेपिटाइटिस के उन्मूलन के लिए जागरूकता फैलाने का एक आदर्श और महत्वपूर्ण अवसर प्रदान करता है।

विश्व हेपेटाइटिस दिवस 2023 की थीम(Theme of World Hepatitis Day 2023)

विश्व हेपेटाइटिस दिवस 2023 की थीम है-


“एक जिंदगी, एक जिगर।”
(One Life,One Liver)


यह थीम एक जीवन, एक जिगर के तहत वर्ष का विश्व हेपेटाइटिस दिवस स्वस्थ जीवन के लिए लीवर के महत्व पर प्रकाश डालेगा और लीवर के स्वास्थ्य को अनुकूलित करने लीवर की बीमारी को रोकने और 2030 हेपेटाइटिस उन्मूलन लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए हेपेटाइटिस की रोकथाम, परीक्षण और उपचार बढ़ाने की आवश्यकता पर प्रकाश डालेगा।