June 25, 2024

कौन है Akash Anand जिससे बसपा को है गिरता जनाधार बचाने की आस ? : Lok Sabha Election 2024

Akash Anand, BSP, Lok Sabha Election 2024: बसपा सुप्रीमो मायावती ने Akash Anand को अपना उत्तराधिकारी बनाया है। लोकसभा चुनाव के पहले मायावती ने आकाश आनंद को पार्टी का नेशनल कोऑर्डिनेटर घोषित किया था। अब आकाश आनंद के कंधों पर बसपा का डूबता जनाधार बचाने की जिम्मेदारी है। आकाश आनंद राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में हुए विधानसभा चुनाव में बेहद सक्रिय भूमिका में थे। वह उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड को छोड़कर अन्य राज्यों में बसपा का कामकाज देख रहे हैं।

image 1 30

Akash Anand, BSP, Lok Sabha Election 2024: बसपा सुप्रीमो मायावती ने Akash Anand को अपना उत्तराधिकारी बनाया है। लोकसभा चुनाव के पहले मायावती ने आकाश आनंद को पार्टी का नेशनल कोऑर्डिनेटर घोषित किया था। अब आकाश आनंद के कंधों पर बसपा का डूबता जनाधार बचाने की जिम्मेदारी है। आकाश आनंद राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में हुए विधानसभा चुनाव में बेहद सक्रिय भूमिका में थे। वह उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड को छोड़कर अन्य राज्यों में बसपा का कामकाज देख रहे हैं।

कौन है Akash Anand जिन पर मायावती को है इतना भरोसा ?

आंखों पर मोटे फ्रेम का चश्मा, नीली पैंट और सफेद शर्ट पहनकर सीधा-साधा दिखने वाला वह युवा जब बोलता है तो समाज के लोगों का ध्यान बरबस ही उसकी तरफ चला जाता है। वह समझाता है कि पढ़ाई करो, सरकारी नौकरी में स्थान बनाओ,लड़ाई झगड़े से कैरियर खराब होगा और एक बार मुकदमा दर्ज हो गया तो समझो हाथ से यह सरकारी नौकरी गई। उनका भला सिर्फ बसपा ही कर सकती है और लोग तो सिर्फ इस्तेमाल ही करेंगे जी हां ऐसे हैं मायावती के उत्तराधिकारी आकाश आनंद।

आकाश आनंद, मायावती के छोटे भाई आनंद कुमार के बेटे हैं। उनका जन्म 1995 में नोएडा में हुआ था। आकाश ने नोएडा और गुरुग्राम से स्कूल शिक्षा ग्रहण की। वर्ष 2013 से 2016 के दौरान लंदन की यूनिवर्सिटी ऑफ प्लाईमाउथ से एमबीए की पढ़ाई पूरी की। भारत लौटने पर उन्होंने अपना बिजनेस शुरू किया। आकाश ने कई बड़ी कंपनियों के साथ काम भी किया। आकाश आनंद ने सक्रिय राजनीति में आने का फैसला वर्ष 2016 में किया। पिछले कई वर्षों से वह पार्टी में कार्यरत हैं। आकाश का सोशल मीडिया पर एक्टिव अकाउंट भी है। सोशल मीडिया फ्रेंडली आकाश के एक्स पर 2.07 लाख, फेसबुक पर 57 हजार और इंस्टाग्राम पर 51 हजार फॉलोअर्स है। एक्स पर उनका बायो है- बाबा साहेब की दृष्टिकोण का एक युवा समर्थक।

2017 में राजनीति में हुई एंट्री

मायावती ने 2017 में यूपी विधानसभा चुनाव हारने के बाद Akash Anand को जनता के सामने पेश किया था। वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान आकाश आनंद का नाम बसपा के स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल किया गया था। बसपा और सपा का गठबंधन टूटने पर आकाश आनंद को पार्टी का नेशनल कोऑर्डिनेटर घोषित किया गया।

2022 से मायावती के बाद दूसरे नंबर पर हैं आकाश आनंद

2022 में हुए हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के बसपा के स्टार प्रचारकों की जो सूची जारी की गई उसमें मायावती के बाद आकाश आनंद का नाम दूसरे नंबर पर था। आकाश को विभिन्न राज्यों में विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी कैडर को तैयार करने का काम भी सौंपा गया था। हालांकि उत्तराखंड और यूपी में मायावती खुद पार्टी की कमान संभाल रही है जबकि अन्य राज्यों में आकाश आनंद पार्टी का नेतृत्व कर रहे हैं।

क्या सोशल इंजीनियरिंग फॉर्मूले पर बसपा का जनाधार बचा पाएंगे आकाश आनंद ?

सोशल इंजीनियरिंग के फार्मूले पर बसपा को बढ़ाने वाले आकाश आनंद परंपरागत राजनीति से इतर हर मोर्चे पर पार्टी की विचारधारा को आगे बढ़ाने में कामयाब रहे हैं। अमूमन मीडिया और सोशल मीडिया से दूर रहने वाली मायावती के भतीजे आकाश अन्य पार्टियों की तरह बसपा की हर बात को सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों तक पहुंचा रहे हैं। उनकी अपनी एक टीम है। केंद्रीय कार्यालय दिल्ली में यह टीम उनकी देखरेख में काम करती है। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर बसपा के बारे में हर एक जानकारियां साझा की जा रही हैं। वह जहां जाते हैं उनके साथ टीम जाती है और लाइव फेसबुक व यूट्यूब पर इसका प्रसारण करती है। अब देखना यह है कि अपने सोशल इंजीनियरिंग फार्मूले पर क्या आकाश आनंद बसपा के डूबते जनाधार को बचा पाते हैं?