June 25, 2024

अफजाल अंसारी के गढ़ में भाजपा उम्मीदवार घोषित किए गए कौन है पारस नाथ राय ?: Ghazipur BJP Candidate Paras Nath Rai, Lok Sabha Election 2024

अफजाल अंसारी के गढ़ में भाजपा उम्मीदवार घोषित किए गए कौन है पारस नाथ राय ?: Ghazipur,  Lok Sabha Election 2024

Ghazipur BJP Candidate Paras Nath Rai, Lok Sabha Election 2024: भाजपा ने लोकसभा चुनाव के लिए अपने उम्मीदवारों की 10वीं सूची बुधवार को जारी कर दी। 10वीं सूची में यूपी के सात प्रत्याशियों का ऐलान कर दिया गया है। इस सूची में गाजीपुर लोकसभा सीट पर भी उम्मीदवार का ऐलान किया गया है। गाज़ीपुर सीट पूर्वांचल की चर्चित सीटों में से एक है। Ghazipur से पारसनाथ राय को टिकट दिया गया है। कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा की सीट रही गाजीपुर से पारसनाथ राय को उतार कर भाजपा ने सभी को चौंका दिया है। भाजपा ने अपनी 10वीं लिस्ट में 5 सीटों पर नए प्रत्याशी उतारे हैं, जिसमें सबसे अधिक चौंकाने वाला नाम पारस नाथ राय का है। वहीं सपा ने इस सीट से मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल अंसारी को प्रत्याशी बनाया है।

कौन है पारस नाथ राय (Who is Paras Nath Rai) ?

2 जनवरी 1955 को जन्मे पारस नाथ राय Ghazipur के मनिहारी ब्लॉक के सिखड़ी गांव के रहने वाले हैं। पारस नाथ राय के दो बेटे और दो बेटियां हैं आशुतोष राय और आशीष राय इनके बेटे हैं।बड़े बेटे आशुतोष राय 2014 में भाजयुमो के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं और इस समय भाजपा के संगठन में काम कर रहे हैं। छोटी बेटे आशीष राय शिक्षक हैं। पारस नाथ राय गाज़ीपुर के पूर्व सांसद और वर्तमान में जम्मू कश्मीर के उप राज्यपाल मनोज सिन्हा के करीबी माने जाते हैं। पारस नाथ राय भाजपा के बहुत अधिक सक्रिय नेता तो नहीं रहे हैं लेकिन शुरू से ही संघ से जुड़े हैं। वह संघ के संघ सेवक रहने के साथ ही विद्यार्थी परिषद के प्रदेश सह मंत्री और इस समय संपर्क प्रमुख के पद पर हैं।

मनोज सिन्हा के अब तक हुए सभी चुनावों में पारस नाथ ही पूरी जिम्मेदारी संभालते रहे हैं और चुनाव का संचालन करते रहे हैं। पारस नाथ राय के गाजीपुर में मदन मोहन मालवीय समेत कई कॉलेज हैं। इनके कॉलेज में होने वाले कार्यक्रमों में मनोज सिन्हा प्रत्येक वर्ष आते हैं।

पहली बार चुनाव लड़ेंगे पारस नाथ राय

गाज़ीपुर सीट से उम्मीदवार बनाए जाने के बाद पहली बार मीडिया से बातचीत में पारस नाथ राय ने कहा कि “एक बार मार्केटिंग के चुनाव में निर्विरोध निर्वाचित हुआ हूं। इसके अलावा अभी तक कोई चुनाव नहीं लड़ा हूं” ऐसे में पारस नाथ राय पहली बार चुनाव लड़ने जा रहे हैं।

2014 और 2019 में भारतीय जनता पार्टी ने मनोज सिन्हा को गाजीपुर से टिकट दिया था। 2014 में मनोज सिन्हा ने गाजीपुर में जीत दर्ज की और मोदी सरकार में रेल राज्य मंत्री भी रहे लेकिन 2019 में वह अफजाल अंसारी से हार गए। 2019 में सपा- बसपा गठबंधन की तरफ से अफजाल अंसारी उम्मीदवार थे जबकि 2024 के लोकसभा चुनाव में अफजाल अंसारी सपा की तरफ से चुनाव लड़ रहे हैं।

हाल ही में माफिया मुख्तार अंसारी की मौत हो जाने की वजह से गाज़ीपुर सीट चर्चा का केंद्र बनी हुई है। मुख्तार की मौत के बाद सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव अंसारी बंधु के आवास ‘फाटक’ जा चुके हैं। ऐसे में कयास लगाये जा रहे थे कि भाजपा गाजीपुर से किसी बड़े चेहरे को अफजाल अंसारी के खिलाफ उतारेगी लेकिन पारस नाथ राय को उम्मीदवार बनाकर भाजपा ने सबको चौंका दिया है।