June 25, 2024

World Telecommunication Day 2023 : विश्व दूरसंचार दिवस का इतिहास

World Telecommunication Day || विश्व दूर संचार दिवस का इतिहास || World Telecommunication and Information Society Day || विश्व दूरसंचार दिवस 2023 || World Telecommunication Day in Hindi || 17 May

प्रत्येक वर्ष 17 में को विश्व दूर संचार दिवस(World Telecommunication Day) मनाया जाता है। आज के आधुनिक युग में फोन, मोबाइल और इंटरनेट के बिना जीवन की कल्पना असंभव सी प्रतीत होती है। क्योंकि यह जीवन की महत्वपूर्ण आवश्यकताओं में से एक बन गए हैं। पहले किसी को सूचना देने या प्राप्त करने अथवा किसी से संपर्क साधने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ती थी, लेकिन आज इंटरनेट के जमाने में यह चीज बहुत आसान हो गई है। आज पलक झपकते ही हम अपनों से दूर बैठे सगे संबंधों से बातें कर सकते हैं, जिसकी वजह है ‘ दूर संचार क्रांति’ ‘दूरसंचार क्रांति’ के कारण आज भारत विश्व के कुछ तेज गति से प्रगति कर रहे देश में शामिल हो गया है।

World Telecommunication Day 2023_Janpanchayat Hindi Blogs

World Telecommunication Day || विश्व दूर संचार दिवस का इतिहास || World Telecommunication and Information Society Day || विश्व दूरसंचार दिवस 2023 || World Telecommunication Day in Hindi

विश्व दूरसंचार दिवस (World Telecommunication Day) 17 May

प्रत्येक वर्ष 17 में को विश्व दूर संचार दिवस(World Telecommunication Day) मनाया जाता है। आज के आधुनिक युग में फोन, मोबाइल और इंटरनेट के बिना जीवन की कल्पना असंभव सी प्रतीत होती है। क्योंकि यह जीवन की महत्वपूर्ण आवश्यकताओं में से एक बन गए हैं। पहले किसी को सूचना देने या प्राप्त करने अथवा किसी से संपर्क साधने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ती थी, लेकिन आज इंटरनेट के जमाने में यह चीज बहुत आसान हो गई है। आज पलक झपकते ही हम अपनों से दूर बैठे सगे संबंधों से बातें कर सकते हैं, जिसकी वजह है ‘ दूर संचार क्रांति’ ‘दूरसंचार क्रांति’ के कारण आज भारत विश्व के कुछ तेज गति से प्रगति कर रहे देश में शामिल हो गया है।

विश्व दूर संचार दिवस का इतिहास (History of World Telecommunication Day )

दूरसंचार संघ (International Telecommunication Union) की स्थापना 17मई को हुई थी। तभी से यह परंपरा शुरू हुई। लेकिन आधुनिक युग में विश्व दूर संचार दिवस मनाने की शुरुआत 1969 में हुई। वर्ष 2005 में संयुक्त राष्ट्र महासभा ने विश्व सूचना समाज दिवस के रूप में घोषित किया। वर्ष 2005 के बाद से प्रत्येक वर्ष 17 मई को विश्व दूर संचार और सूचना समिति दिवस मनाया जाने लगा।

क्या है दूरसंचार (What is Telecommunication) ?

केबल टेलीग्राफ या प्रसारण द्वारा एक दूरी पर किया गया संचार दूर संचार कहलाता है। यह संदेशों, छवियों, संकेतों, शब्दों, लेखनों और ध्वनियों या किसी प्रकार की जानकारी का संचरण है। संचार प्रतिभागियों के बीच सूचनाओं का आदान प्रदान प्रौद्योगिकी के बिना असंभव है।

क्या है दूरसंचार क्रांति (What is Telecommunication Revolution)

‘ दूरसंचार क्रांति’ गरीब देश में हुई एक ऐसी क्रांति है जिसने देश की छवि बदल दी है। दूरसंचार क्रांति देश के विकास से विकसित हो रही अर्थव्यवस्था की प्रत्यक्षदर्शी है। भारत की आर्थिक समृद्धि में दूर संचार क्रांति का बड़ा महत्वपूर्ण योगदान रहा है। 3G और 4G टेक्नोलॉजी की वजह से भारत तीव्र गति से विकास के पथ पर अग्रसर हो रहा है। अन्य क्षेत्रों के साथ ही ग्रामीण भारत भी टेक्नोलॉजी से अवगत हो रहा है। आज भारत के किसान भी हाईटेक हो रहे हैं। किसान इंटरनेट से फसलों के विषय में जानकारी लेते हैं। रेलवे रिजर्वेशन की जानकारी भी एस एम एस के जरिए प्राप्त हो जाती है। बैंकिंग से लेकर ट्रांसपोर्टेशन, बिजली का बिल जमा करने जैसी कई सुविधाएं दूर संचार क्रांति की वजह से मिल रही हैं।

भारत में टेलीफोन की शुरुआत कब हुई (When, Telephone was Started in India)

टेलीफोन की स्थापना करना सरकार का एकाधिकार था इसलिए जब 1880 में टेलीफोन कंपनियो, ‘ एंग्लो इंडियन टेलीफोन कंपनी लिमिटेड’ और ‘ ओरिएंटल टेलीफोन कंपनी लिमिटेड’ ने भारत में टेलीफोन एक्सचेंज की स्थापना करने के लिए भारत सरकार से संपर्क किया तो भारत सरकार ने इसे अस्वीकृत कर दिया। लेकिन 1881 में भारत सरकार ने इंग्लैंड की ‘ ओरिएंटल टेलीफोन कंपनी लिमिटेड’ को कोलकाता, मुंबई, मद्रास और अहमदाबाद में टेलीफोन एक्सचेंज खोलने का लाइसेंस दे दिया। देश में पहली औपचारिक टेलीफोन सेवा की स्थापना 1881 में हुई। भारत के टेलीफोन इतिहास में 28 जनवरी 1882 ‘ रेड लेटर डे’ माना जाता है। इस दिन भारत के तत्कालीन गवर्नर जनरल काउंसिल के सदस्य मेजर ई. बैरिंग ने कोलकाता, चेन्नई और मुंबई में टेलीफोन एक्सचेंज खोलने की घोषणा की।

विश्व दूरसंचार दिवस का महत्व (Significance of World Telecommunication Day)

विश्व दूरसंचार दिवस एक दूसरे के साथ संवाद करने के लिए तकनीक के इस्तेमाल पर जोर देता है। यह दिन सूचना और संचार प्रौद्योगिकियों का उपयोग करने की संभावना को पैदा करने में जागरूकता बढ़ाने में मदद करने के लिए मनाया जाता है।

विश्व दूरसंचार दिवस का उद्देश्य (Objectives of World Telecommunication Day)

विश्व दूरसंचार दिवस का उद्देश्य दूर संचार प्रौद्योगिकियों को लेकर लोगों के अंदर जागरूकता पैदा करना है। यह दिन विश्व भर में डिजिटल डिवाइड को कम करने के तरीकों के बारे में लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से मनाया जाता है। विश्व के प्रत्येक देश के प्रत्येक आदमी तक इसका फायदा पहुंचाना एवं दूर दराज इलाकों में रहने वाले लोगों को सूचना और संचार प्रौद्योगिकी सुलभ कराना इस दिन का मुख्य उद्देश्य है

दूरसंचार के दुष्प्रभाव (Side effect of Telecommunication)

आज जिस प्रकार इंटरनेट ने हमारे जीवन को सरल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है, उसी प्रकार इसके कारण कई ऐसी समस्याएं भी उत्पन्न हुई हैं जो हमारे समाज को दूषित कर रही हैं। पोर्नोग्राफी जैसी समस्या इन्हीं समस्याओं के अंतर्गत आती है जो प्रमुख रूप से बढ़ रही है। यह समस्या इंटरनेट के प्रत्येक हिस्से में पहुंच रही है। आजकल कुछ लोग इंटरनेट पर अपने रिश्तेदार या दोस्तों की तस्वीर डालते हैं। इन तस्वीरों को चुराकर अश्लीलता परोशने वाली वेबसाइट्स इसका दुरुपयोग कर रही है। इसके अतिरिक्त साइबर अपराध भी इंटरनेट के क्षेत्र में बड़ी चुनौती है।
दूरसंचार के सामने चुनौतियों के होते हुए भी यह तकनीक आज भारत जैसे विशाल देश की समृद्धि में सहायक सिद्ध हो रही है। दूरसंचार के क्षेत्र में करियर की संभावनाएं भी बढ़ती जा रही है।

विश्व दूरसंचार दिवस 2023 की थीम (Theme of World Telecommunication Day, 2023)

विश्व दूरसंचार दिवस 2023 की थीम है-


“वृद्ध व्यक्तियों और स्वस्थ उम्र बढ़ाने के लिए डिजिटल प्रौद्योगिकियां।”
“(Digital Technologies for Older Persons and Healthy Ageing)”.

Read More Health Blogs In Hindi