World Hypertension Day 2023 : आइए जानते है उच्च रक्तचाप के कारण,लक्षण और बचाव के बारे में

World Hypertension Day 2023 || World Hypertension Day in Hindi || विश्व उच्च रक्तचाप दिवस || Blood Pressure || उच्च रक्तचाप || Health Blogs || हिन्दी ब्लॉग्स || 17th May || उच्च रक्तचाप
(Hypertension or High Blood Pressure) विश्व में तेजी से अपना पांव पसार रही एक गंभीर बीमारी है।जहां तक भारत की बात है तो उच्च रक्तचाप के खतरे को लेकर चिकित्सक सावधानी बरतनी की सलाह देते हैं। उच्च रक्तचाप से लगभग 33% शहरी और 25% ग्रामीण आबादी ग्रस्त है। शहरों में पांच में से एक व्यक्ति और ग्रामीण इलाकों में प्रत्येक 10 में से एक व्यक्ति ही उच्च रक्तचाप की समस्या को नियंत्रित कर पाता है। यह ऐसी बीमारी है जो अपने उच्च स्तर पर पहुंचने पर ही संकेत देती है, अर्थात जब तक समस्या का पता नहीं चलता।

प्रत्येक वर्ष 17 मई को विश्व उच्च रक्तचाप दिवस (World Hypertension Day) मनाया जाता है। उच्च रक्तचाप या हाइपरटेंशन हाई ब्लड प्रेशर को कहते हैं। हमारे शरीर की नसों में लगातार दौड़ने वाले रक्त के माध्यम से शरीर के सभी अंगों तक ऊर्जा और पोषण के लिए आवश्यक विटामिन्स, मिनरल्स, ऑक्सीजन और ग्लूकोज आदि पहुंचते हैं। रक्त प्रवाह के कारण नसों की दीवारों पर जो दबाव (pressure) पड़ता है उस दबाव को रक्तचाप (Blood Pressure) कहते हैं। चिकित्सकों के अनुसार 130/ 80 से अधिक रक्त के दबाव को हाइपरटेंशन या हाई ब्लड प्रेशर कहा जाता है।

World Hypertension Day 2023_Janpanchayat hindi Blogs

World Hypertension Day 2023 || World Hypertension Day in Hindi || विश्व उच्च रक्तचाप दिवस || Blood Pressure || उच्च रक्तचाप || Health Blogs || हिन्दी ब्लॉग्स

आइए जानते है उच्च रक्तचाप के कारण,लक्षण और बचाव के बारे में

प्रत्येक वर्ष 17 मई को विश्व उच्च रक्तचाप दिवस (World Hypertension Day) मनाया जाता है। उच्च रक्तचाप या हाइपरटेंशन हाई ब्लड प्रेशर को कहते हैं। हमारे शरीर की नसों में लगातार दौड़ने वाले रक्त के माध्यम से शरीर के सभी अंगों तक ऊर्जा और पोषण के लिए आवश्यक विटामिन्स, मिनरल्स, ऑक्सीजन और ग्लूकोज आदि पहुंचते हैं। रक्त प्रवाह के कारण नसों की दीवारों पर जो दबाव (pressure) पड़ता है उस दबाव को रक्तचाप (Blood Pressure) कहते हैं। चिकित्सकों के अनुसार 130/ 80 से अधिक रक्त के दबाव को हाइपरटेंशन या हाई ब्लड प्रेशर कहा जाता है।

उच्च रक्तचाप (Hypertension or High Blood Pressure) विश्व में तेजी से अपना पांव पसार रही एक गंभीर बीमारी है।जहां तक भारत की बात है तो उच्च रक्तचाप के खतरे को लेकर चिकित्सक सावधानी बरतनी की सलाह देते हैं। उच्च रक्तचाप से लगभग 33% शहरी और 25% ग्रामीण आबादी ग्रस्त है। शहरों में पांच में से एक व्यक्ति और ग्रामीण इलाकों में प्रत्येक 10 में से एक व्यक्ति ही उच्च रक्तचाप की समस्या को नियंत्रित कर पाता है। यह ऐसी बीमारी है जो अपने उच्च स्तर पर पहुंचने पर ही संकेत देती है, अर्थात जब तक समस्या का पता नहीं चलता।

विश्व उच्च रक्तचाप दिवस मनाने की शुरुआत कब हुई ?

उच्च रक्तचाप दिवस(World Hypertension Day) सर्वप्रथम वर्ल्ड हाइपरटेंशन लीग द्वारा मनाया गया था। वर्ल्ड हाइपरटेंशन लीग की स्थापना 2005 में हुई थी और इसी वर्ष 14 मई को पहला उच्च रक्तचाप दिवस मनाया गया था। वर्ष 2006 में उच्च रक्तचाप दिवस के लिए 17 मई की तिथि निर्धारित की गई। वर्ष 2006 से प्रत्येक वर्ष 17 मई को विश्व रक्तचाप दिवस मनाया जाता है।

क्या है उच्च रक्तचाप (What is Hypertension or High Blood Pressure) ?

उच्च रक्तचाप में सामान्यतः कोई लक्षण नहीं दिखाई देते हैं। इसीलिए इसे साइलेंट किलर भी कहा जाता है। लेकिन उच्च रक्तचाप अधिक बढ़ने पर कभी-कभी कुछ लक्षण प्रकट हो सकते हैं जैसे-

  • सांस की तकलीफ
  • चक्कर आना
  • सर दर्द
  • सीने में दर्द
  • हृदय गति तेज होना
  • अधिक पसीना आना
  • चिंता या तनाव की स्थिति बने रहना
  • बेचैनी महसूस होना
    एथेरोस्क्लेरोसिस की जटिलताएं लंबे समय तक उच्च रक्तचाप के कारण बढ़ जाती है। इन् लक्षणों से उच्च रक्तचाप का पता चल जाता है और इन लक्षणों को नजरअंदाज करना घातक सिद्ध हो सकता है। उच्च रक्तचाप हमें यह संकेत दे देता है कि हमें अपने जीवन शैली में बदलाव करना चाहिए।

उच्च रक्तचाप के क्या है कारण (What is the reasons of Hypertension)

रक्तचाप बढ़ने के कारण को जानना भी अत्यंत आवश्यक है। ऐसे लोग जिनमें किडनी की बीमारियां, रक्त वाहिकाओं में (जन्मजात) दोष, एडर्नल ग्लैंड टयूमर है अथवा जो लोग कुछ दावाओ का अधिक सेवन करते हैं, इन लोगों को उच्च रक्तचाप हो सकता है। उच्च रक्तचाप कुछ कारण इस प्रकार है-

  • अनियमित दिनचर्या
  • असंतुलित खान पान
  • मोटापा
  • पारिवारिक इतिहास
  • शराब, धूम्रपान जैसी आदतें
  • एवं सोडियम का अधिक सेवन

उच्च रक्तचाप का इलाज (Treatment of Hypertension)

उच्च रक्तचाप एक ऐसी बीमारी है जो कभी भी किसी को भी हो सकती है इसको नियंत्रित करना इसके इलाज के लिए अत्यंत आवश्यक है। हम अपनी दिनचर्या और जीवन शैली में परिवर्तन करके उच्च रक्तचाप को नियंत्रित कर सकते हैं। सामान्य स्थिति में रक्त चाप 120/80 से 140/90 के बीच रहता है लेकिन रक्त प्रवाह का यह स्तर जब बढ़ने लगता है तो उच्च रक्तचाप की स्थिति उत्पन्न हो जाती है। ऐसी स्थिति में जिन लोगों का रक्तचाप उच्च स्तर पर होता है उन्हें डॉक्टर से परामर्श लेकर दवाएं लेनी चाहिए क्योंकि बढे हुए रक्तचाप को सामान्य उपाय से नियंत्रित नहीं किया जा सकता है।
उच्च रक्तचाप हृदयाघात और ब्दिमाग को आघात पहुंचा सकता है। अतः उच्च रक्तचाप की दवाये बिना चिकित्सक के परामर्श के बंद नहीं करनी चाहिए, क्योंकि जब रक्तचाप अचानक से बढ़ता है तो ऐसी स्थिति में ब्रेन स्ट्रोक और हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है।

उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने के उपाय

उच्च रक्तचाप के लिए दवाइयां तो आवश्यक है ही साथ-साथ इसे नियंत्रित रखने के लिए कुछ उपाय भी किया जा सकते हैं, जिससे हम अपने रक्तचाप को नियंत्रित रख सकते हैं। यह उपाय निम्न है-

  • सोडियम का उपयोग कम करना चाहिए।
  • प्रतिदिन 5 ग्राम से कम नमक का सेवन करना चाहिए।
  • तंबाकू और अल्कोहल के सेवन से बचना चाहिए।
  • फल, सब्जियां एवं कम वसायुक्त आहार का सेवन करना चाहिए।
  • बच्चों और युवाओं को प्रतिदिन कम से कम 30 मिनट सप्ताह में 5 दिन शारीरिक गतिविधियां करने के लिए प्रोत्साहित करें।
  • शरीर के वजन को नियंत्रित रखें अर्थात मोटापा ना बढ़ने पाए।
  • वसायुक्त मांस, नारियल, वसायुक्त दुग्ध उत्पादन, पाम कर्नेल एवं ताड़ जैसे ट्रॉपिकल ऑयल से परहेज करें।
  • मीठे पेय पदार्थ एवं मिठाइयों का कम से कम मात्रा में सेवन करें।
  • आहार में पोटैशियम, मैग्निशियम, कैलशियम, रेशा और प्रोटीन युक्त पदार्थ का सेवन करें।

विश्व उच्च रक्तचाप दिवस का उद्देश्य (Objectives of World Hypertension Day)

विश्व उच्च रक्तचाप दिवस बनाने का उद्देश्य है लोगों को उच्च रक्तचाप के खतरों के बारे में जागरूक करना। तेजी से बढ़ रही इस वैश्विक बीमारी के बारे में लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से प्रत्येक वर्ष 17 में को विश्व उच्च रक्तचाप दिवस (World Hypertension Day) मनाया जाता है।

विश्व उच्च रक्तचाप दिवस 2023 की थीम (Theme of World Hypertension Day 2023)

विश्व उच्च रक्तचाप दिवस 2023 की थीम है-

“अपने रक्तचाप को सटीक रूप से मापे, इसे नियंत्रित करें, लंबे समय तक जीवित रहे।”
(Measure Your Blood Pressure Accurately,Control it,Live Longer)