June 25, 2024

Pravasi Bhartiya Divas : जानिए प्रवासी भारतीय दिवस कब और क्यों मनाया जाता है ? (Know when and why Pravasi Bharatiya Divas is celebrated? )

Pravasi Bharatiya Divas : प्रवासी भारतीय दिवस पूरे भारत में 9 जनवरी को मनाया जाता है। प्रवासी भारतीय दिवस मनाने की शुरुआत सन् 2003 से हुई थी। प्रवासी भारतीय दिवस के अवसर पर तीन दिवसीय कार्यक्रम आयोजित किया जाता है, जिसमें विदेश में जाकर भारतवर्ष का नाम ऊंचा करने वाले भारतीयों को सम्मानित किया जाता है। 9 जनवरी, 1915 को महात्मा गांधी दक्षिण अफ्रीका से भारत लौटे थे, इसलिए इस दिन को प्रवासी भारतीय दिवस के रूप में मान्यता दी गई है। महात्मा गांधी पूरे विश्व में प्रवासी भारतीयों और औपनिवेशिक शासन के तहत लोगों के लिए और भारत के सफल स्वतंत्रता संघर्ष के लिए प्रेरणा बने।

Pravasi Bhartiya Divas 2023

विश्व में प्रवासी भारतीय समुदाय

Pravasi Bhartiya Divas : विश्व का दूसरा सबसे बड़ा प्रवासी है भारत। प्रवासी भारतीय समुदाय विश्व के हर बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। इनकी आबादी अनुमानत: 2.5 करोड़ से अधिक है। प्रवासी भारतीय समुदाय सैकड़ों वर्षो में हुए उत्प्रवास का परिणाम है। इसके पीछे वाणिज्यवाद, उपनिवेशवाद और वैश्वीकरण जैसे विभिन्न कारण है। पिछले तीन दशकों से उत्प्रवास का स्वरूप बदलने लगा है। 20वीं शताब्दी में नया ‘प्रवासी समुदाय’ उभरा है जिसमें उच्च कौशल प्राप्त व्यवसाई पश्चिमी देशों की तरफ जा रहे हैं। अर्ध कुशल कामगार पश्चिमी और दक्षिण पूर्व एशिया की ओर ठेके पर काम करने जा रहे हैं।

प्रवासी भारतीय समुदाय विभिन्न जाति और मिलनसार समुदाय है। यह समुदाय विविध भाषाओं, संस्कृतियों, धर्मों और मान्यताओं का प्रतिनिधित्व करता है। भारत और उसके आंतरिक मूल्यों का विचार इन्हें आपस में बांधे हुए हैं। भारतीय मूल के लोग और अप्रवासी भारतीय प्रवासी भारतीयों में शामिल है। विश्व के सबसे शिक्षित और सफल समुदायों में आते हैं प्रवासी भारतीय समुदाय। प्रवासी भारतीय समुदाय को इसके कठोर परिश्रम, अनुशासन और स्थानीय समुदाय के साथ सफलतापूर्वक सामंजस्य बनाए रखने के लिए जाना जाता है। प्रवासी भारतीयों ने अपने देश की अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।
भारतीय शरीर से किसी भी देश में हो लेकिन आज भी उनकी आत्मा भारत में बसी हुई है। वह आज भी होली, दीपावली और ईद मनाते हैं। आज भी वे भारतीय टीम की विजय की कामना करते हैं और प्रत्येक क्षण अपने देश भारत आने की सोचते हैं।

प्रवासी भारतीय समुदाय का इतिहास (History of Overseas Indian Community)

5000 वर्ष से भी प्राचीन भारत के महान इतिहास में विश्व के विभिन्न भागों से हर प्रकार के आक्रमणकर्ता एवं अतिथि आते रहे हैं। भारत ने इस प्रक्रिया में अपने इतिहास के दौरान उनकी संस्कृतियों एवं सभ्यताओं को आत्मसात किया। भारत में यह सिलसिला आर्यों से शुरू हुआ तथा यह सिलसिला अंग्रेजों के समय तक चलता रहा। इन अंग्रेजों ने भारत के प्रथम प्रवासी भारतीय मोहनदास करमचंद गांधी के द्वारा शुरू किए गए स्वतंत्रता संघर्ष के कारण भारत छोड़ा।
ईसा पूर्व तीसरी शताब्दी में बौद्ध धर्म के सिद्धांतों का प्रचार करने के लिए सर्वप्रथम सम्राट अशोक के दूत विदेश गए थे। कहा जाता है कि भारत के व्यापारियों ने अपने स्वयं की पोतों का निर्माण किया और व्यापार की तलाश में रोम व चीन पहुंच गए। 19वीं शताब्दी के दौरान भारत में ब्रिटिश शासन की समाप्ति तक भारत के लोग करारनामा प्रणाली के अंतर्गत अंग्रेजों के अन्य उपनिवेशों में गए।

प्रवासी भारतीय दिवस का वर्ष क्रम ( Year order of Pravasi Bharatiya Divas)

भारत में 2003 से लेकर अब तक किसी न किसी शहर में प्रवासी भारतीय दिवस मनाया जाता है। अब तक मनाए गए प्रवासी भारतीय दिवस का वर्ष क्रम निम्नलिखित हैं_

  1. प्रथम प्रवासी भारतीय दिवस, नई दिल्ली, 2003
  2. दूसरा प्रवासी भारतीय दिवस, नई दिल्ली, 2004
  3. तीसरा प्रवासी भारतीय दिवस, मुंबई, 2005
  4. चौथा प्रवासी भारतीय दिवस, हैदराबाद, 2006
  5. पांचवा प्रवासी भारतीय दिवस, नई दिल्ली, 2007
  6. छठा प्रवासी भारतीय दिवस, नई दिल्ली, 2008
  7. सातवां प्रवासी भारतीय दिवस, चेन्नई, 2009
  8. आठवां प्रवासी भारतीय दिवस, नई दिल्ली, 2010
  9. नवां प्रवासी भारतीय दिवस, नई दिल्ली, 2011
  10. दसवां प्रवासी भारतीय दिवस, जयपुर, राजस्थान, 2012
  11. ग्यारहवां प्रवासी भारतीय दिवस, कोची, केरल, 2013
  12. बारहवां प्रवासी भारतीय दिवस, नई दिल्ली, 2014
  13. तेरहवां प्रवासी भारतीय दिवस, गांधीनगर, गुजरात, 2015
  14. चौदहवां प्रवासी भारतीय दिवस, नई दिल्ली, 2016
  15. पंद्रहवां प्रवासी भारतीय दिवस, बेंगलुरु, कर्नाटक, 2017
  16. सोलहवां प्रवासी भारतीय दिवस, सिंगापुर, 2018

सत्रहवां प्रवासी भारतीय दिवस, 2023

सत्रहवां प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन 8 से 10 जनवरी, 2023 तक आयोजित किया जा रहा है। यह प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन मध्य प्रदेश सरकार के सहयोग से इंदौर में आयोजित हो रहा है । सत्रहवां प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन 4 वर्ष के उपरांत भौतिक रूप में आयोजित होगा।
2023 के प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन का विषय है “प्रवासी अमृत काल में भारत की प्रगति के लिए विश्वसनीय भागीदार”। प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन का 9 जनवरी, 2023 को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा उद्घाटन किया जाएगा। 10 जनवरी, 2023 को राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुरमू प्रवासी भारतीय सम्मान पुरस्कार प्रदान करेंगी और समापन सत्र की अध्यक्षता भी करेंगी। गुयाना के राष्ट्रपति डॉक्टर मोहम्मद अली सत्रहवें प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन में अतिथि होंगे।