World Hindi Day 2023 : जानिए कब और क्यों मनाया जाता है विश्व हिंदी दिवस ? (Know when and why World Hindi Day is celebrated?)

कब और क्यों मनाया जाता विश्व हिंदी दिवस?
विश्व हिंदी दिवस 10 जनवरी को प्रत्येक वर्ष पूरे विश्वमें मनाया जाता है। हिंदी दिवस मनाने का उद्देश्य पूरे विश्व में हिंदी भाषा का प्रचार प्रसार करना है। हिंदी को अंतर्राष्ट्रीय भाषा के रूप में स्थापित करना विश्व हिंदी दिवस का मुख्य उद्देश्य है। भारतीय दूतावास विदेशों में इस दिन को विशेष रुप से मनाते हैं।

World Hindi Day 2023 Latest updates

कब और क्यों मनाया जाता विश्व हिंदी दिवस? (When and why is World Hindi Day celebrated?)

World Hindi Day 2023 : विश्व हिंदी दिवस 10 जनवरी को प्रत्येक वर्ष पूरे विश्वमें मनाया जाता है। हिंदी दिवस मनाने का उद्देश्य पूरे विश्व में हिंदी भाषा का प्रचार प्रसार करना है। हिंदी को अंतर्राष्ट्रीय भाषा के रूप में स्थापित करना विश्व हिंदी दिवस का मुख्य उद्देश्य है। भारतीय दूतावास विदेशों में इस दिन को विशेष रुप से मनाते हैं।
हिंदी विश्व में चौथी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है। प्रथम स्थान पर अंग्रेजी, द्वितीय स्थान पर मंदारिन तथा तृतीय स्थान पर स्पेनिश भाषा है। हिंदी भाषा को विश्व में और अधिक प्रसारित करने के उद्देश्य से 10 जनवरी को विश्व हिंदी दिवस मनाया जाता है।

विश्व हिंदी दिवस का इतिहास (History of World Hindi Day)

संपूर्ण विश्व में हिंदी का अधिकाधिक विकास करने के लिए विश्व हिंदी सम्मेलन की शुरुआत हुई थी। 10 जनवरी, 1975 को नागपुर में प्रथम विश्व हिंदी सम्मेलन आयोजित हुआ था। अतः यह दिन (10 जनवरी) विश्व हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है। हिंदी प्रचार के लिए आयोजित इस सम्मेलन में 30 देशों के 122 प्रतिनिधि शामिल हुए थे। वर्ष 1975 में ही संयुक्त राज्य अमेरिका, त्रिनिदाद, यूनाइटेड किंग्डम, मॉरीशस और टोबैको ने भी विश्व हिंदी सम्मेलन का आयोजन किया था। 2006 में तत्कालीन भारत सरकार ने 10 जनवरी को विश्व हिंदी दिवस के रूप में मनाए जाने की घोषणा की थी। इस घोषणा के बाद भारतीय विदेश मंत्रालय ने विदेश में 10 जनवरी, 2006 को प्रथम विश्व हिंदी दिवस मनाया था।

प्रथम विश्व हिंदी दिवस कब और कहां मनाया गया? (When and where was the first World Hindi Day celebrated?)

भारतीय दूतावास ने प्रथम विश्व हिंदी दिवस नार्वे में मनाया था। द्वितीय और तृतीय विश्व हिंदी दिवस भारतीय नोरवेजीय सूचना एवं सांस्कृतिक फोरम के तत्वावधान में लेखक सुरेश चंद्र शुक्ल की अध्यक्षता में बहुत धूमधाम से मनाया गया था। विश्व हिंदी दिवस 2010 विश्व हिंदी सचिवालय,भारतीय उच्चायोग, शिक्षा संस्कृति एवं मानव संसाधन मंत्रालय, इंदिरा गांधी भारतीय सांस्कृतिक केंद्र तथा हिंदी संगठन के मिले-जुले सहयोग से इंदिरा गांधी भारतीय सांस्कृतिक केंद्र के सभागार में रविवार 10 जनवरी, 2010 को मनाया गया। हंगरी के भारोपीय शिक्षा विभाग से डॉ मारिया नज्येशी मुख्य अतिथि के रूप में आई थीं इस उपलक्ष में मॉरीशस के राष्ट्रपति माननीय श्री अनिरुद्ध जगन्नाथ जी के कर–कमलों द्वारा विश्व हिंदी सचिवालय की एक रचना (एक विश्व हिंदी पत्रिका) का भी लोकार्पण हुआ था। इस अवसर पर भारतीय उच्चायोग द्वारा उन सभी नवोदित कवियों को सम्मानित किया गया जिनको अपनी कलात्मकता प्रेषित करने के लिए एक मंच प्राप्त हुआ।

विश्व हिंदी दिवस मनाने का उद्देश्य तथा थीम (Purpose and theme of celebrating World Hindi Day)

हिंदी के प्रचार–प्रसार के लिए जागरूकता पैदा करना तथा हिंदी को अंतर्राष्ट्रीय भाषा के रूप में पहचान दिलाना इस दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य है। इस दिन सभी सरकारी कार्यालयों पर विभिन्न विषयों पर हिंदी में व्याख्यान आयोजित किए जाते हैं। हिंदी भाषा को भारत के अतिरिक्त गुयाना, सूरीनाम, नेपाल, मॉरीशस, त्रिनिदाद टोबैगो और फिजी जैसे अन्य देशों में भी बोला जाता है।

विश्व हिंदी दिवस का थीम (Theme of World Hindi Day)

प्रत्येक वर्ष विश्व हिंदी दिवस को भारत सरकार द्वारा एक थीम जारी की जाती है। इस वर्ष विश्व हिंदी दिवस की थीम है– “हिंदी को जन्नत का हिस्सा बनाना”। इसका अर्थ यह नहीं कि अपनी मातृभाषा का त्याग करें, अपनी मातृभाषा के साथ हिंदी भाषा को भी अपनाएं।