June 25, 2024

Qatar Soldier News: कतर में पूर्व सैनिकों की मौत की सजा पर रोक

कतर की खुफिया एजेंसी ‘ राष्ट्रीय सुरक्षा ब्यूरो’ द्वारा भारत के 8 पूर्व नौसेना अधिकारियों को गिरफ्तार करने का मामला पहली बार 30 अगस्त 2022 को सामने आया था। कतर के कोर्ट आफ फर्स्ट इंस्टांस द्वारा 26 अक्टूबर 2023 को सभी 8 पूर्व सैनिकों को मौत की सजा सुनाई गई थी।

Qatar soldier news: कतर में पूर्व सैनिकों की मौत की सजा पर रोक

Qatar Soldier News: कतर की खुफिया एजेंसी ‘ राष्ट्रीय सुरक्षा ब्यूरो’ द्वारा भारत के 8 पूर्व नौसेना अधिकारियों को गिरफ्तार करने का मामला पहली बार 30 अगस्त 2022 को सामने आया था। कतर के कोर्ट आफ फर्स्ट इंस्टांस द्वारा 26 अक्टूबर 2023 को सभी 8 पूर्व सैनिकों को मौत की सजा सुनाई गई थी।

विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को बताया कि भारतीय नौसेना के आठ पूर्व कर्मियों को दी गई मौत की सजा पर रोक लगा दी गई है। कतर की एक अदालत ने जासूसी के एक कथित मामले में भारतीय नौसेना के आठ पूर्व कर्मियों को बड़ी राहत दी है। कतर की अदालत ने अक्टूबर में भारतीय नौसेना के आठ पूर्व कर्मियों को मौत की सजा सुनाई थी। जासूसी के एक कथित मामले में दोहा स्थित दहरा ग्लोबल के सभी कर्मचारियों,भारतीय नागरिकों को अगस्त 2022 में हिरासत में ले लिया गया था।

किस मामले में सुनाई गई थी पूर्व सैनिकों को मृत्युदंड की सजा ?

रिपोर्ट्स के मुताबिक भारतीय नौसेना के आठ सेवानिवृत्ति नौसैनिक कतर की निजी कंपनी दहरा ग्लोबल टेक्नोलॉजी एंड कंसल्टेंसीज सर्विसेज में काम कर रहे थे। यह कंपनी कतरी एमिरी नौसेना को ट्रेनिंग और अन्य सेवाएं प्रदान करती है। यह कंपनी खुद को कतर रक्षा, सुरक्षा एवं अन्य सरकारी एजेंसियों के स्थानीय भागीदार बताती है।

क्या है आरोप ?

सभी नौसैनिकों पर पनडुब्बी कार्यक्रम पर कथित रूप से जासूसी करने का आरोप लगाया गया था, जिसके बाद 26 अक्टूबर को कतर के कोर्ट आफ फर्स्ट इंस्टांस द्वारा दोहा में दहरा कंपनी के आठ सेवानिवृत्त भारतीय कर्मचारियों को मौत की सजा सुनाई गई थी।