National Cancer Awareness Day 2023: राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस क्यों मनाया जाता है?

National Cancer Awareness Day 2023: राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस क्यों मनाया जाता है?: राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस (National Cancer Awareness Day) प्रत्येक वर्ष 7 नवंबर को मनाया जाता है। राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस, कैंसर की पहचान करने और इसके शीघ्र निदान तथा रोकथाम के प्रति लोगों में जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से मनाया जाता है, जिससे इस घातक बीमारी से लड़ने के लिए कैंसर का पता लगाने की आवश्यकता के बारे में लोगों को जागरुक किया जा सके। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO)के अनुसार ह्रदय रोग के बाद कैंसर दूसरी सबसे घातक बीमारी है जो लोगों की मौत का कारण बनती है। आजकल के दिनचर्या के कारण कैंसर का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। इस घातक बीमारी के प्रति लोगों में जागरूकता पैदा करने के लिए राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस मनाया जाता है।

राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस (National Cancer Awareness Day) 7 अक्टूबर, 2023

National Cancer Awareness Day 2023
National Cancer Awareness Day
 राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस (National Cancer Awareness Day) प्रत्येक वर्ष 7 नवंबर को मनाया जाता है। राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस, कैंसर की पहचान करने और इसके शीघ्र निदान तथा रोकथाम के प्रति लोगों में जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से मनाया जाता है, जिससे इस घातक बीमारी से लड़ने के लिए कैंसर का पता लगाने की आवश्यकता के बारे में लोगों को जागरुक किया जा सके। विश्व स्वास्थ्य संगठन(WHO)के अनुसार ह्रदय रोग के बाद कैंसर दूसरी सबसे घातक बीमारी है जो लोगों की मौत का कारण बनती है। आजकल के दिनचर्या के कारण कैंसर का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। इस घातक बीमारी के प्रति लोगों में जागरूकता पैदा करने के लिए राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस मनाया जाता है।

राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस का इतिहास (History Of National Cancer Awareness Day)

राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस (National Cancer Awareness Day) मनाने की घोषणा केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन (Dr. Harshvardhan) ने 2014 में पहली बार की थी। डॉक्टर हर्षवर्धन ने पहली बार कैंसर नियंत्रण पर राज्य स्तरीय आंदोलन की शुरुआत की और लोगों को मुफ्त स्क्रीनिंग के लिए नगर निगम के क्लिनिको को रिपोर्ट करने के लिए प्रोत्साहित किया। इस अवसर पर कैंसर के शुरुआती लक्षणों और इससे बचने से संबंधित एक पुस्तिका भी वितरित की गई थी। वर्ष 2014 से प्रत्येक वर्ष 7 नवंबर को राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस  मनाया जाता है।

कैंसर क्या है (What is Cancer) ?

 शरीर में कोशिकाओं के समूह की अनियंत्रित वृद्धि कैंसर है। जब यह कोशिकाएं टिश्यू को प्रभावित करती हैं तो कैंसर शरीर के अन्य हिस्सों में फैल जाता है। कैंसर किसी भी उम्र में हो सकता है लेकिन यदि कैंसर का सही समय पर पता ना लगाया जाए और इसका उपचार न हो तो इससे मौत का खतरा बढ़ जाता है। कैंसर के कई प्रकार है या यूं कहे कि कैंसर के100 से भी अधिक रूप है जैसे- स्तन कैंसर, सर्वाइकल कैंसर, ब्रेन कैंसर, बोन कैंसर, लंग कैंसर, पेनक्रिएटिक कैंसर, प्रोस्टेस्ट कैंसर, गर्भाशय कैंसर, किडनी कैंसर, त्वचा कैंसर, स्टमक कैंसर, थायराइड कैंसर, मुंह का कैंसर, गले का कैंसर इत्यादि।

प्रमुख कैंसर कौन-कौन से होते हैं

  • पुरुषों में सबसे अधिक फुफ्फुस,अमाशय, यकृत, कोलेस्ट्रॉल और ब्रेन कैंसर होते हैं।
  • महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर, गर्भाशय कैंसर और सर्वाइकल कैंसर से सबसे अधिक मौते होती हैं।
  • कैंसर से मरने वालों में महिलाओं की संख्या पुरुषों से अधिक होती है।

कैंसर के कारण (Causes of Cancer )

  • वजन बढ़ना या मोटापा
  • शारीरिक सक्रियता में कमी
  • अल्कोहल और नशीले पदार्थ का अधिक मात्रा में सेवन
  • पौष्टिक आहार में कमी
  • दिनचर्या में व्यायाम को शामिल न करना

आंखों को स्वस्थ रखने के उपाय

कैंसर के अन्य कारण

किसी गंभीर बीमारी के कारण भी कैंसर का खतरा रहता है यदि आप किसी गंभीर बीमारी की दवायें ले रहे हैं तो इन दवाओं के दुष्प्रभाव के कारण भी कैंसर हो सकता है।

कैंसर अनुवांशिक भी हो सकता है। कई बार कैंसर से पीड़ित माता-पिता के जीन बच्चों में भी आ जाते हैं। जिससे बच्चे के भविष्य में कैंसर होने की आशंका बढ़ जाती है।

कैंसर के लक्षण (Symptoms of Cancer)

अलग-अलग कैंसर के अलग-अलग लक्षण होते हैं। लेकिन कुछ सामान्य लक्षणों को नजर अंदाज नहीं करना चाहिए जैसे-
  • बिना किसी कारण अचानक वजन कम होना
  • खून की कमी की बीमारी एनीमिया
  • हर समय थकान महसूस होना
  • शरीर के किसी भी हिस्से में बिना किसी कारण के लगातार दर्द बने रहना
  • त्वचा के रंग या बनावट में परिवर्तन
  • शरीर के किसी भी हिस्से में असामान्य स्राव या खून निकलना
  • त्वचा या मुंह पर छाले जो ठीक ना हो रहे हो
  • शरीर के किसी भी हिस्से में दर्द सहित या दर्द रहित गांठ
  • खांसी के दौरान खून आना
  • मीनोपॉज के दौरान भी खून आना
  • प्रोटेस्ट के परीक्षण के असामान्य परिणाम।
 उपरोक्त में से कोई भी लक्षण दिखे तो डॉक्टर से परामर्श अवश्य लें

जाने कैसे बेहतर रखें मानसिक स्वास्थ्य 

कैंसर से बचाव के उपाय (Prevention of Cancer)

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार भारत में प्रत्येक वर्ष करीब 1.1 मिलियन कैंसर के नए मामले देखने को मिलते हैं। यह आंकड़ा भयभीत करने वाला है, लेकिन अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखकर और कैंसर होने पर सही समय पर उपचार लेकर कैंसर से बचाव कर सकते हैं। कैंसर से बचाव के निम्न उपाय हैं-

  • वजन सामान्य रखें
  • स्वस्थ आहार लें
  • शारीरिक रूप से सक्रिय रहे
  • टीका लगवाए
  • तंबाकू शराब का अत्यधिक सेवन न करें
  • नियमित जांच कराएं
  • अपनी दिनचर्या में व्यायाम को शामिल करें।

कैंसर का इलाज (Treatment of Cancer)

कैंसर के इलाज के लिए सर्जरी, रेडिएशन थेरेपी या कीमोथेरेपी की जाती है। इसके अलावा हार्मोन थेरेपी और इम्यूनोथेरेपी की जाती है। कैंसर के इलाज के लिए सर्जिकल और नॉन सर्जिकल ट्रीटमेंट भी किए जाते हैं।

राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस का महत्व (Significance of National Cancer Awareness Day)

 भारत में सालाना लगभग 1.1 मिलियन कैंसर के नए मामले सामने आ रहे हैं। अनुमानतः भारत में प्रत्येक 8 मिनट में एक महिला सर्वाइकल कैंसर से अपनी जान गंवाती है। 2018 में पुरुषों और महिलाओं में तंबाकू के उपयोग से 3,17,928 मौतें हुई। ऐसे में राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस (National Cancer Awareness Day)का महत्व और भी बढ़ जाता है। राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस इस बात पर जोर देता है कि इस घातक बीमारी के खतरे को कम करने के लिए हम क्या कर सकते हैं। यह दिन हमें कैंसर के लक्षणों पर ध्यान देने के लिए जागरूक करता है। कैंसर के प्रति जागरूकता इसलिए भी आवश्यक है कि जब बीमारी घातक हो जाती है तब हमें पता चलता है जिससे बचने की संभावना ना के बराबर रह जाती है। अतः समय रहते कैंसर के बारे में जानकर उसका निदान करने के लिए राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस महत्वपूर्ण है।

कैंसर से निपटने हेतु वैश्विक पहल

 विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO)की एक विशेष कैंसर एजेंसी के रूप में 1965 में इंटरनेशनल एजेंसी फॉर रिसर्च ऑन कैंसर (International Agency for Research on Cancer) का गठन विश्व स्वास्थ्य सभा के एक संकल्प द्वारा किया गया था।

भारत द्वारा की गई पहल

भारत में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत कैंसर, मधुमेह, हृदय रोगों एवं स्ट्रोक की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए राष्ट्रीय कार्यक्रम को जिला स्तर पर लागू किया जा रहा है।

राष्ट्रीय कैंसर ग्रिड

राष्ट्रीय कैंसर की ग्रिड का गठन अगस्त 2012 में किया गया था। राष्ट्रीय कैंसर ग्रिड पूरे भारत में कैंसर केंद्रों, अनुसंधान संस्थानों, रोगी समूहों एवं धर्मार्थ संस्थानों का एक नेटवर्क है जिसका उद्देश्य है कैंसर की रोकथाम निदान एवं उपचार के लिए रोगियों की देखभाल के समान मानकों की स्थापना के साथ ऑनकोलॉजी (Oncology कैंसर का अध्ययन) में विशेष प्रशिक्षण एवं शिक्षा तथा कैंसर में नैदानिक अनुसंधान की सुविधा प्रदान करना।

 राष्ट्रीय औषधि मूल्य निर्धारण प्राधिकरण ने कैंसर पीड़ित मरीजों के लिए स्वास्थ्य सेवाओं को अधिक किफायती बनाने अर्थात कैंसर रोधी दवाओं की कीमतों को कम करने के लिए फरवरी 2019 में 42 एंटी कैंसर दवाओं के लिए व्यापार मार्जिन युक्तिकरण पर एक पायलट प्रोजेक्ट लॉन्च किया था। इससे दवाओं की कीमतों में कमी आई थी।

Read More Health Blogs In Hindi: https://janpanchayat.com/category/health-style/
About National Cancer Day : https://www.emro.who.int/noncommunicable-diseases/campaigns/world-cancer-day-2023.html